खाद की कालाबाजारी कर रहे हैं बीजेपी नेता, किसानों के बुरे हालात हैं: सज्जन सिंह वर्मा

सीएम शिवराज का बड़ा भारी भाषण था कि मध्य प्रदेश में किसान भाईयों को खाद की कमी नहीं आने दूंगा, आज किसान को एक बोरी मुश्किल से मिल रही है: सज्जन सिंह वर्मा

Updated: Nov 05, 2022, 01:35 PM IST

खाद की कालाबाजारी कर रहे हैं बीजेपी नेता, किसानों के बुरे हालात हैं: सज्जन सिंह वर्मा

भोपाल। मध्य प्रदेश के किसान लगातार खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं। इस बार भी रबी फसल के दौरान अधिकांश जिलों में खाद की भयंकर किल्लत है। पर्याप्त मात्रा में किसानों को खाद नहीं मिलने के कारण उन्हें महंगे दामों पर अपनी जरूरतें पूरी करना पड़ रही हैं। कांग्रेस ने सत्ताधारी दल बीजेपी पर खाद की कालाबाजारी का आरोप लगाया है।

कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि कुछ दिनों पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा भारी भाषण था कि मध्य प्रदेश में किसान भाईयों को खाद की कमी नहीं आने दूंगा। प्रचुर मात्रा में खाद का भंडारण कर लिया गया है। तमाम आर्डर कर रखे हैं। इसलिए किसान निश्चित होकर खेती का काम करें। लेकिन अब हालात क्या हैं? किसानों को एक-एक बोरी खाद के लिए तरस रहे हैं।

यह भी पढ़ें: दफ्तर दरबारी: सियासी मैदान में पिछड़ रही उमा भारती का आईएएस अफसरों पर हमला

पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री वर्मा के मुताबिक जब उन्होंने देवास में अफसरों से पूछा कि देवली में कितना खाद आया? अफसरों ने उन्हें बताया कि 20 टन। बकौल बर्मा इसके साथ ही अफसरों ने यह भी बताया कि 300 टन खाद की डिमांड भेजी थी। यदि 20 टन हम बाट देते तो किसान हमको मारता, क्योंकि यह डिमांड ऊंट के मुंह में जीरे के समान है।

वर्मा ने आरोप लगाया कि खाद की कालाबाजारी बीजेपी का एक-एक आदमी कर रहा है। किसान को एक बोरी मुश्किल से मिल रही है। मध्य प्रदेश में किसानों के बुरे हालात हैं। इसी बीच कृषि मंत्री कमल पटेल ने बयान जारी कर कहा कि प्रदेश के किसानों को घबराने की जरूरत नहीं है। उनको मिलने वाला उर्वरक उनको ही मिलेगा। पटेल ने किसानों से अपील की है कि अगर कहीं पर यूरिया डीएपी की कालाबाजारी हो रही है तो किसान कमल सुविधा केन्द्र के फोन नंबर 0755-2558823 पर शिकायत करें।