सिंधिया समर्थक गोविंद राजपूत के पोस्टर पर सीएम शिवराज नहीं

BJP Poster War: चुनाव के दौरान बीजेपी के पोस्टर से ज्योतिरादित्य सिंधिया गायब रहे तो चुनाव बाद सिंधिया खेमे के नेता के पोस्टर में शिवराज को जगह नहीं

Updated: Nov 20, 2020, 12:33 PM IST

सिंधिया समर्थक गोविंद राजपूत के पोस्टर पर सीएम शिवराज नहीं
Photo Courtesy: RepublicTV

भोपाल। मध्य प्रदेश बीजेपी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों की गुटबाजी अब खुलकर सामने आने लगी है। सिंधिया समर्थक विधायक गोविंद सिंह राजपूत ने सीएम शिवराज को ही अपने पोस्टर से हटा दिया है। गोविंद सिंह राजपूत ने सिंधिया के भोपाल आगमन पर पोस्टर लगवाए हैं, जिनमें बीजेपी के बाकी नेताओं को तो जगह दी गई है लेकिन मामा शिवराज नदारद हैं।

दरअसल, उपचुनाव के नतीजों के बाद सिंधिया पहली बार भोपाल आने वाले हैं। सिंधिया के इस भोपाल दौरे को लेकर उनके साथ बीजेपी में गए विधायकों में काफी उत्साह है। सिंधिया के भोपाल में स्वागत के लिए जगह-जगह पर पोस्टर्स और बैनर्स लगाए गए हैं। सिंधिया के सबसे करीबी माने जाने वाले पूर्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने जो पोस्टर्स लगवाए हैं वह राजनीतिक गलियारों में चर्चा का केंद्र बन गए हैं। इन होर्डिंग्स में पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की तस्वीरें लगवाई गई हैं, लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इसमें कहीं नहीं हैं।

इस तस्वीर को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर करारा तंज कसा है। मध्यप्रदेश एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी ने शिवराज से कहा है कि बोया पेड़ बबूल का तो आम कहां से पाओगे। उन्होंने ट्वीट किया, 'सिंधिया खेमे ने भाजपा में आते ही गुटबाजी शुरू कर दी। गोविंद राजपूत ने भोपाल में अपने होर्डिंगों में शिवराज मामा को ही उड़ा दिया है। शिवराज जी बोया पेड़ बाबुल का तो आम कहाँ से पाओगे।'

 

बता दें कि उपचुनाव प्रचार अभियान के दौरान कई मौकों पर देखा गया था कि बीजेपी ने पोस्टर्स से सिंधिया को गायब कर दिया था। बीजेपी मुख्यालय में लगे होर्डिंग्स से लेकर सिंधिया का गढ़ माने जाने वाले क्षेत्रों में पार्टी के पोस्टर्स से सिंधिया नदारद थे। इस बात को लेकर सिंधिया समर्थकों में काफी रोष था वहीं महाराज भी गुस्सा होकर कुछ दिनों के लिए प्रचार से दूरी बना ली है। उपचुनाव के बाद गोविंद सिंह राजपूत का यह पोस्टर सिंधिया खेमे द्वारा सीएम शिवराज से बदले के तौर पर देखा जा रहा है।