बारिश में किसान सम्मान यात्रा पर निकले जयवर्धन सिंह, मुआवजे की मांग को लेकर 35 किमी की पैदल यात्रा

ओला वृष्टि मुआवजा, बिजली बिलों को माफ करने और महंगाई के खिलाफ पदयात्रा पर निकले कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह, कल कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर सौंपेंगे ज्ञापन

Updated: Aug 05, 2021, 04:17 PM IST

बारिश में किसान सम्मान यात्रा पर निकले जयवर्धन सिंह, मुआवजे की मांग को लेकर 35 किमी की पैदल यात्रा

गुना। मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल इलाके में भारी बारिश ने कहर बरपा रखा है। बारिश से उपजे बाढ़ के हालात ने किसानों का काफी नुकसान किया है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के बीच राघोगढ़ से कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह पदयात्रा पर निकल गए हैं। इस किसान सम्मान पदयात्रा के तहत सिंह 35 किलोमीटर पैदल यात्रा कर कल गुना पहुंचेंगे और कलेक्टर ऑफिस में ज्ञापन सौंपेंगे।

जयवर्धन सिंह ने आज सनकादिक आश्रम आरोन से पैदल यात्रा निकाली। दोपहर तक वे बुढ्डोंगर, बरखेड़ाहाट होते ही सरखो की ओर बढ़ रहे हैं। देर शाम तक पैदल यात्रा का पहला पड़ाव सेमरी का बालाजी मंदिर होगा। जानकारी के मुताबिक वे मंदिर परिसर में रात गुजारेंगे और फिर सुबह भिलेरा, बजरंगगढ़ होते हुए गुना कलेक्ट्रेट कार्यलय में जाकर ज्ञापण सौंपेंगे।

यह भी पढ़ें: संसद घेराव: यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने चलाया वॉटर कैनन, श्रीनिवास हुए गिरफ्तार

बारिश के बीच पदयात्रा शुरू करने को लेकर जयवर्धन सिंह ने कहा है कि यह वक्त किसानों का साथ देने का है और वे किसानों के लिए भोपाल तक भी पैदल चलने को तैयार हैं। जयवर्धन सिंह ने ट्वीट किया, 'फ़सल मुआवज़ा किसानों का अधिकार था लेकिन 6 माह निकलने के वाद भी किसानों के हाथ सूने ही रह गए, ऊपर से 10 हज़ार रु प्रति क्विंटल का सोयाबीन बोया, वो भी क्षेत्र में चल रही अतिवर्षा के भेंट चढ़ गया..!! आज किसानो का साथ देना आवश्यक है उसके लिए गुना क्या भोपाल तक पैदल चलने को तैयार हूँ।' 

कांग्रेस नेता की यह पदयात्रा मुख्य रूप से किसानों को तत्काल फसल मुआवजा दिलाने और बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर है। साथ ही पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस, खाद्य तेल आदि के बढ़ते दामों को कम करने की मांग भी शामिल है। दरअसल, मध्य प्रदेश में पिछले दो वर्षों से अधिकांश किसानों को फसल बीमा मुआवजे की रकम नहीं मिल पाई है। जयवर्धन सिंह के विधानसभा क्षेत्र के दर्जनों गांवों में इस साल भी ओलावृष्टि से शत प्रतिशत नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ें: नरोत्तम मिश्रा बने खतरों के खिलाड़ी, रेस्क्यू ऑपरेशन को बनाया एडवेंचर ट्रिप, वीडियो वायरल

हैरानी की बात ये है कि सरकार ने किसानों का मुआवजा भी मंजूर कर लिया, लेकिन 6 महीने गुजर जाने के बाद भी अबतक उनके खाते में मुआवजा नहीं भेजा गया है। इसके अलावा बिजली कंपनियों की मनमानी की वजह से किसानों के पूर्व के मुकाबले दुगने से भी ज्यादा बिजली बिल आ रहे हैं। इसी के खिलाफ जयवर्धन सिंह पदयात्रा पर निकले हैं। बता दें कि पिछले साल भी बारिश की वजह से गुना जिले में भी सबसे ज्यादा फसल को नुकसान हुआ था, लेकिन, किसान अब भी मुआवजे की बाट जोह रहे हैं।