विदिशा : कोरोना मरीज के शव को लेकर लापरवाही, एंबुलेंस से गिरा शव, मौत के बाद भी जारी है कोरोना संक्रमित मरीजों की दुर्दशा

मध्यप्रदेश में कोरोना मरीजों के शवों की हो रही दुर्दशा, एंबुलेंस से गिरा मरीज का शव, वीडियो हो रहा वायरल, परिजनों ने लगाया मरीज का शव नहीं देने का आरोप

Updated: Apr 23, 2021, 06:33 PM IST

विदिशा : कोरोना मरीज के शव को लेकर लापरवाही, एंबुलेंस से गिरा शव, मौत के बाद भी जारी है कोरोना संक्रमित मरीजों की दुर्दशा

विदिशा। शहर के एक अस्पताल से कोरोना मरीज के शव की दुर्दशा की तस्वीरें सामने आई हैं। एक अस्पताल का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक एंबुलेंस कोरोना से मारे गए लोगों के शव लेकर श्मशान घाट जा रही है, तभीअस्पताल के गेट से बाहर निकलते ही मोड पर एंबुलेस से एक शव बाहर गिर जाता है। जिसके बाद वहां से गुजर रहे लोगों की आवाज सुनकर एंबुलेंस का ड्राइवर गाड़ी रोकता है।

इस घटना से एंबुलेंस की विंड शील्ड भी चटक गई। इसके बाद वहां पर लोगों की भीड़ जमा हो जाती है। कई लोग दौड़ते हुए वहां पर आए। इस अस्पताल पर लोगों ने गंभीर आरोप लगाए हैं, कहा जा रहा है कि परिजनों को बिना बताए अस्पताल प्रबंधन कोरोना मरीज का शव ले जा रहा था।

 

कोरोना से मरने वालों के शव मृतकों के परिजनों को नहीं दिए जा रहे हैं। ना ही उस शव का ठीक प्रकार से रखरखाव और अंतिम संस्कार किया जा रहा है। कोरोना मरीज के शव को लेकर लापरवाही के इस वायरल वीडियो से अस्पतालों की कलई खुल गई है। कि कैसे एक साथ बड़ी संख्या में रखे जाते हैं, और वे यूं ही लापरवाही से सड़क पर गिर जाते हैं। इस वीडियो के सामने आने के बाद प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं। सरकार ना तो समय पर इलाज दे पा रही है, और तो और मरने के बाद शवों की दुर्दशा होने के लिए छोड़ दिया जा रहा है।

 

दरअसल मध्य प्रदेश में कोरोना की भयवाह स्थिति होती जा रही है। बीते 24 घंटों में एक दिन में सबसे ज्यादा 13107 नए मरीज मिले हैं। इस दौरान 75 लोगों की मौत होने का सरकारी दावा किया जा रहा है, जबकि हकीकत कुछ और ही है। जिसके बाद अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 4,788 हो गई है। वहीं कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 4.59 लाख पहुंच गई है।