भोपाल एयरपोर्ट पर सभी पैसेंजर्स का कोरोना टेस्ट अनिवार्य, बढ़ते कोरोना मामलों की वजह से अलर्ट पर प्रशासन

मप्र में मिले 17 नए कोरोना मरीज, प्रशासन ने दिए सख्ती के आदेश, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर यात्रियों की रेंडम टेस्टिंग, जबकि एयरपोर्ट पर सभी यात्रियों को दिखानी होगी RT-PCR नेगेटिव रिपोर्ट, बिना मास्क लगाए पाए जाने देना होगा 500 जुर्माना

Updated: Dec 01, 2021, 12:07 PM IST

भोपाल एयरपोर्ट पर सभी पैसेंजर्स का कोरोना टेस्ट अनिवार्य, बढ़ते कोरोना मामलों की वजह से अलर्ट पर प्रशासन
Photo Courtesy: financial express

भोपाल। मध्यप्रदेश में नए 17 कोरोना मरीज मिले हैं। बढ़ते मामलों को लेकर भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट पर आने वाले सभी हवाई यात्रियों का कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया गया है, विमान यात्रियों को भोपाल में एंट्री करने से पहले कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा। अगर वे रिपोर्ट नहीं दिखाते हैं तो उन्हें कोरोना टेस्ट करवाना पड़ेगा, बिना कोरोना टेस्ट के उन्हें शहर में आने नहीं दिया जाएगा। फ्लाइट से आए यात्रियों को RT-PCR टेस्ट करवाना होगा।  वहीं भोपाल में होम आइसोलेशन की व्यवस्था खत्म कर दी गई है। अब संदिग्ध पाए जाने पर संस्थागत क्वारंटाइन ही होना होगा । वहीं बस और ट्रेन से भोपाल आने वाले यात्रियों का रैंडम टेस्ट किया जाएगा।  बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों की भी RT-PCR जांच होगी।  

मध्यप्रदेश में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते 24 घंटे में मध्यप्रदेश में 17 नए  कोरोना मरीज मिले हैं। भोपाल और इंदौर एक बार फिर कोरोना हॉटस्पाट बनते नजर आ रहे हैं। भोपाल में 9 और इंदौर में 5 मरीज मिले हैं, वहीं छोटे जिलों में भी मरीजों के मिलने का सिललिसा जारी है। वर्तमान में मध्य प्रदेश में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 124 है। 

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 7,93,170 हो गया है, अब तक 7,82,523 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 10,528 है। प्रदेश के जबलपुर, ग्वालियर, होशंगाबाद, श्योपुर, रायसेन, दमोह, शहडोल, बैतूल  और बड़वानी में कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। अब प्रदेश में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग  को अनिवार्य कर दिया गया है, बिना मास्क पाए जाने पर 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों की कॉन्टैक्ट और ट्रैवल हिस्ट्री की जांच कर रहा है।  मध्यप्रदेश में  कोरोना वैक्सीनेश का काम तेजी से जारी है। मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटों में करीब 3.42 लाख लोगों को कोरोना से बचने के लिए वैक्सीन लगाई गई, प्रदेश में 18 साल से अधिक उम्र के करीब 3.53 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है।