बीजेपी सरकार उप चुनाव में व्यस्त, किसान कर रहे आत्महत्या, मृतक किसान के परिवार से मिलेंगे कांग्रेस नेता

MP By Poll 2020: मध्य प्रदेश में उप चुनाव के पहले किसान मुद्दे पर गरमाई राजनीति, कांग्रेस का आरोप, सिर्फ़ भाषणों में किसान चिंता जताते हैं बीजेपी नेता

Updated: Sep-23, 2020, 01:54 PM IST

बीजेपी सरकार उप चुनाव में व्यस्त, किसान कर रहे आत्महत्या, मृतक किसान के परिवार से मिलेंगे कांग्रेस नेता

भोपाल। उपचुनाव के पहले मध्य प्रदेश में फसल खराब होने और किसानों को मुआवजा नहीं मिलने पर राजनीति गरमा गई है। मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान बार बार किसानों को मुआवजा देने का वादा करते हैं मगर फसल बीमा के रूप में किसानों के खाते में 4 और 9 रुपए जैसी शर्मनाक मुआवजा राशि पहुंचा दी जाती है। सरकार से सहायता नहीं मिलने के कारण किसान लगातार आत्महत्या कर रहे हैं।  

हरदा जिले के ग्राम अतरसमा में किसान लक्ष्मीनारायण ने कर्ज के चलते आत्महत्या कर ली है। किसान के कर्ज की स्थिति और सरकार से मिली सहायता की हक़ीक़त जानने के लिए पूर्व सांसद अरुण यादव, विधायक जीतू पटवारी और विधायक कुणाल चौधरी 21 सितंबर को हरदा जाएंगे।

और पढ़ें: MP Farmer Suicide: कृषि मंत्री कमल पटेल के क्षेत्र में किसान ने कर्ज के चलते दी जान

कांग्रेस नेता दोपहर 1 बजे भोपाल से सड़क मार्ग से रवाना होकर वाया आष्टा, कन्नौद, खातेगांव होते हुए शाम 4 बजे हरदा पहुंचेंगे। वे वहां हरदा जिले के ग्राम अतरसमा में कर्ज के चलते आत्महत्या करने वाले मृतक किसान लक्ष्मीनारायण के निवास पर पहुंचकर परिजनों से मुलाकात कर दिवंगत आत्मा के लिए शोक संवेदना व्यक्त करेंगे तथा उक्त घटना के संबंध में जानकारी लेंगे।  

कांग्रेस नेता अरुण यादव का आरोप है कि खुद को किसान हितैषी बताने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कृषि मंत्री दो-चार रुपए बीमा दिला कर अन्नदाता का अपमान कर रहे हैं। सीएम और कृषि मंत्री भाषणों में ही किसानों के प्रति चिंता जताते हैं।