कमल नाथ के खिलाफ भाजपा विधायकों ने दर्ज कराया मुकदमा, पूर्व सीएम ने कोरोना को लेकर दिया था बयान

कमल नाथ ने कोरोना को बताया था इंडियन वैरिएंट, साथ ही मध्य प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना से मौत के आंकड़े छुपाए जाने का लगाया था आरोप

Updated: May 24, 2021, 10:48 AM IST

कमल नाथ के खिलाफ भाजपा विधायकों ने दर्ज कराया मुकदमा, पूर्व सीएम ने कोरोना को लेकर दिया था बयान
Photo Courtesy: Deccan Herald

भोपाल। बीजेपी ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी के विधायकों ने पीसीसी चीफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। रविवार रात को कमल नाथ के खिलाफ एफआईआर भोपाल क्राइम ब्रांच में दर्ज कराई गई है। बीजेपी विधायक विश्वास सारंग, कृष्णा गौर और रमेशवर शर्मा सहित विधायकों ने कमल नाथ ने खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

कमल नाथ पर बीजेपी ने अपने बयानों से भारत का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने का आरोप लगाया है। बीजेपी नेता शुरू से ही कमल नाथ के बयान को राष्ट्रद्रोह बता रहे हैं। 

दरअसल कमल नाथ ने 21 मई को अपने उज्जैन दौरे पर कहा था कि विदेशी मडिया में भारत में फैले कोरोना को इंडियन वैरिएंट बताया जा रहा है। इसके साथ ही ब्रिटेन सहित अन्य देशों में भारतीयों के साथ दुर्व्यवहार किए जा रहे हैं। उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है। इसके साथ ही कमल नाथ ने मध्यप्रदेश सरकार पर भी कोरोना से हो रही मौतों को छुपाने का आरोप लगाया था। कमल नाथ ने कहा था कि प्रदेश में केवल अप्रैल और मई महीने में एक लाख से अधिक लोगों को मौत हुई हैं, जबकि राज्य सरकार केवल सात हजार मौतों का ही आंकड़ा पेश कर रही है। 

यह भी पढ़ें : बहुत जल्द कांग्रेस कोरोना से मौत के असली आंकड़े सामने रखेगी, पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह का शिवराज पर पलटवार

कमल नाथ के इन बयानों के बाद प्रदेश की सियासत में हलचल मच गई। शिवराज सरकार में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और खुद सीएम शिवराज ने कमल नाथ के बयान की आलोचना की। जबकि कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री को ही अकेले इंदौर में हुईं तीस हजार मौतों का आंकड़ा दिखा दिया। जबकि पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने भी कमल नाथ का समर्थन करते हुए कहा कि प्रदेश में सरकारी आंकड़ों से लगभग बीस गुना अधिक लोगों की मौत हुई है। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि कांग्रेस जल्द ही मौतों का असली आंकड़ा सबके सामने रखेगी।