दवा के पर्चे पर सरकारी डॉक्टरों को लिखना होगा नाम, मोबाइल नंबर

एमपी में सरकारी डॉक्टरों को मरीजों के पर्चे पर अपना नाम और मोबाइल नंबर लिखकर सील लगानी पड़ेगी, हमीदिया अस्पताल से हुई शुरुआत, गड़बड़ी की शिकायत के बाद की जा रही सख्ती

Updated: Jan 03, 2021, 12:11 AM IST

दवा के पर्चे पर सरकारी डॉक्टरों को लिखना होगा नाम, मोबाइल नंबर
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सांरग ने सभी सरकारी डॉक्टरों से कहा है कि वे मरीजों के पर्चे में अपना नाम, मोबाइल नंबर लिखकर सील अवश्य लगाएं। शनिवार को इसकी शुरुआत भोपाल के हमीदिया अस्पताल से हुई। जहां इलाज कराने वाले मरीज़ों के पर्चे पर डॉक्टरों का नाम, मोबाइल नंबर और उनकी सील लगाई जाने लगी। दरअसल इससे इस बात का पता लग सकेगा कि किसी मरीज का इलाज कौन सा डॉक्टर कर रहा है। विश्वास सारंग का कहना है कि जल्द ही यह व्यवस्था प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज और उनसे जुड़े अस्पतालों में लागू की जाएगी।

 

शनिवार को मंत्री हमीदिया अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे थे। वहां उन्होंने मरीजों का हाल चाल जाना, और परेशानियां सुनीं। कुछ मरीजों और परिजनों ने अस्पताल में हो रही लापरवाही की शिकायत की। जिसके बाद उन्होंने अस्पताल प्रबंधन और अधिकारियों को चेतावनी दी है कि मरीजों के इलाज में किसी तरह का समझौता बर्दाश्त नहीं होगा। डॉक्टरों के दस्तखत से पता नहीं चलता कि किसने इलाज किया है। ऐसे में नाम, मोबाइल नंबर लिखकर सील लगाना आवश्यक होगा। वहीं मंत्री ने किसी भी तरह की गड़बड़ी होने पर सख्ती करने की बात कही है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अस्पताल की व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए, ताकि मरीजों को कहीं भटकना ना पड़े।