ग्वालियर में सिंधिया का भव्य स्वागत, रथ पर सवार हुए महाराज, कांग्रेस ने बताया गोबर गणेशों की यात्रा

ग्वालियर-चंबल संभाग में सिंधिया के समर्थक विधायक-मंत्रियों में लगी स्वागत करने की होड़, कांग्रेस को लेकर सिंधिया ने कहा, वे सिर्फ बोलते हैं, कांग्रेस बोली- संक्रमण बनकर आए हैं

Updated: Sep 22, 2021, 06:56 PM IST

ग्वालियर में सिंधिया का भव्य स्वागत, रथ पर सवार हुए महाराज, कांग्रेस ने बताया गोबर गणेशों की यात्रा
Photo Courtesy : Bhaskar

ग्वालियर। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया आज ग्वालियर-चंबल प्रवास पर हैं। ग्वालियर और मुरैना में सिंधिया समर्थक विधायकों ने उनके स्वागत में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। यहां सिंधिया पर क्विंटल के क्विंटल फूल बरसाए गए। भव्य स्वागत से गदगद सिंधिया ने यहां कहा कि कांग्रेस का काम सिर्फ बोलना है। वहीं सिंधिया के इस यात्रा को कांग्रेस ने गोबर गणेशों की यात्रा करार दिया है।

बताया जा रहा है कि चंबल के राजघाट पूल पर सिंधिया के स्वागत में तुलसीराम सिलावट केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को लेकर आए थे। यहां से वे ग्वालियर और मुरैना गए। ग्वालियर में स्वागत का जिम्मा ऐंदल सिंह कंसाना को दिया गया था। खास बात यह है कि ग्वालियर सीमा में प्रवेश करते ही महाराज कार छोड़कर रथ पर चढ़ गए। बताया जा रहा है कि सिंधिया को खुश करने के लिए खासतौर पर इस रथ को इंदौर से बनवाकर लाया गया था। 

इस रथ को कई क्विंटल ताजा फूलों से सजाया गया था इसके बावजूद सिंधिया पर लगातार फूल फेंकने के काम में कई लोग लगाए गए थे। ग्वालियर के निरावली पॉइंट से आगे करीब आधा किलोमीटर सड़क पर गुलाब की पंखुड़ियां बिछाई गई थी जिसे देख महाराज फूले नहीं समा रहे थे। रथ पर सवार सिंधिया का काफिला जब पुरानी छावनी, मोतीझील होते हुए रायरू पहुंचा तो यहां ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के भाई के होटल पर भी जोरदार स्वागत किया गया। 

बताया जा रहा है कि ये रथ यात्रा बहोड़ापुर चौराहा, जेल मार्ग, रामदास घाटी, शिंदे की छावनी, फूलबाग गुरुद्वारा, मोती तबेला, गश्त का ताजिया, राम मंदिर, फालका बाजार, नदी द्वार होते हुए सात घंटे में जयविलास पैलेस पहुंची। यात्रा के शुरुआत में सिंधिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका काम सिर्फ बोलना है। वे बोलते रहें, हमारा काम करना है हम जनता का काम करते रहेंगे।

संक्रमण बनकर आए हैं सिंधिया: कांग्रेस

सिंधिया की इस यात्रा पर तंज कसते हुए कांग्रेस ने कहा है कि वे संक्रमण बनकर ग्वालियर चंबल क्षेत्र में आए हैं। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा, 'प्रदेश में गणेश विसर्जन प्रतिबंधित है लेकिन गोबर गणेशों की रथ यात्रा निकाली जा रही है। सिंधिया कोरोना काल में गायब रहे, लेकिन तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच राजनीतिक संक्रमण बनकर ग्वालियर पहुंचे हैं। यदि कोई अनहोनी होती है तो उसके लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया को आरोपी मानते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हो।'