नेतागिरी करोगे तो जिंदा गाड़ दूंगा, इतने FIR करूंगा कि 7 पुश्तों तक मुकदमा लड़ते रह जाओगे: मुआवजा मांगने पर TI की धमकी

सड़क दुर्घटना में घायल युवक के परिजनों को मुआवजा दिलाने के लिए धरने पर बैठे थे ग्रामीण, TI ने धमकाते हुए कहा- नेतागिरी करोगे तो जिंदा गाड़ दूंगा

Updated: Aug 19, 2022, 04:46 PM IST

नेतागिरी करोगे तो जिंदा गाड़ दूंगा, इतने FIR करूंगा कि 7 पुश्तों तक मुकदमा लड़ते रह जाओगे: मुआवजा मांगने पर TI की धमकी

सिंगरौली। मध्य प्रदेश के सिंगरौली से पुलिसिया रौब का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां सड़क दुर्घटना में घायल युवक के लिए मुआवजा मांग रहे लोगों को टीआई ने धमकाते हुए कहा कि नेतागिरी करोगे तो जिंदा गाड़ दूंगा। थाना इंचार्ज यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि इतने FIR करूंगा की 7 पुश्तों तक मुकदमा लड़ते रह जाओगे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुधवार को जिले के बरगवां थाना क्षेत्र अंतर्गत गोंदवाली गांव में एक हाईवा वाहन की टक्कर से बाइक सवार गंभीर घायल हो गया था। 
हादसे में 22 वर्षीय बाइक सवार युवक रंजीत गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसके बाद स्थानीय लोगों और घायल के परिजनों ने बरगंवा-सिंगरौली मुख्य मार्ग को जाम कर दिया था।

यह भी पढ़ें: शासकीय कार्यक्रम में MP के राज्यपाल ने लगवाए धार्मिक नारे, न लगानेवालों का भी लिया संज्ञान

धरने पर बैठे ग्रामीण मांग कर रहे थे कि जिस कंपनी की हाइवा ने टक्कर मारी है वह कंपनी पीड़ित को मुआवजा दे। चक्का जाम को खुलवाने के लिए बरगवां टीआई आरपी सिंह को मौके पर भेजा गया था। सिंह की जिम्मेदारी थी कि वह ग्रामीणों को समझा बुझाकर धरने से उठाएं। हालांकि, वर्दी के रौब में उन्होंने समझाने के बजाए धमकाने का रास्ता अख्तियार किया।

आरपी सिंह ने कहा कि इस मामले में किसी को राजनीति नहीं करने दूंगा। घायल युवक का जो भी इलाज कराना पड़े, वह कंपनी से मिलकर कराएंगे। लेकिन किसी तरह की राजनीति हुई तो इतने केस दर्ज करूंगा कि सात पुश्तों तक मुकदमा ही लड़ते रह जाओगे। विरोध करने पर टीआई ने एक व्यक्ति को उंगली दिखाते हुए कहा कि तू बड़ा समाज सुधारक है, तू विधायक की नहीं मानेगा, कलेक्टर की नहीं मानेगा, तू टीआई की नहीं मानेगा, तुझे तो मैं जिंदा गाड़ दूंगा। 

मौके पर मौजूद किसी व्यक्ति ने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। घटना का वीडियो शुक्रवार को सामने आया है। वीडियो वायरल होने के बाद एएसपी शिव कुमार वर्मा ने कहा कि जांच के बाद आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।