इंदौर के एमवाय अस्पताल के कर्मचारी ने लगाई फांसी, छह माह से नहीं मिला था वेतन

करीब छह माह से वेतन नहीं मिलने से तनाव में था ब्लड बैंक का कर्मचारी, फांसी लगाकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस।

Updated: Dec 01, 2022, 04:26 PM IST

इंदौर के एमवाय अस्पताल के कर्मचारी ने लगाई फांसी, छह माह से नहीं मिला था वेतन

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एमवाय अस्पताल के एक कर्मचारी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि युवक को छह माह से सैलरी नहीं मिली थी, इसी वजह से वह लगातार तनाव में था। पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है।

पुलिस के मुताबिक भील कॉलोनी में रहने वाले गौरव (35) पुत्र प्रतापसिंह तराड़ ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रात में जब मां घर पर आई तो बेटे को फंदे पर लटके देखा। पुलिस के मुताबिक गौरव कुछ दिन से तनाव में चल रहा था।

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता सेनानी के पोते ने अपने रक्त से बनाई राहुल गांधी की तस्वीर, पेंटिंग लेकर भारत जोड़ो यात्रा में पहुंचा

मृतक के मामा दीपक ने आरोप लगाते हुए बताया कि गौरव कई सालों से एमवाय के ब्लड बैंक में नौकरी करता था। यहां सैंपल लेने का काम करता था। करीब छह माह से उसकी सैलरी रूकी हुई थी। जब उसने यहां बात की तो सैलरी भोपाल से आने की बात कही गई। गौरव ने परेशान होकर लेबर कोर्ट में केस किया था।

परिजनों के मुताबिक लेबर कोर्ट में मामला जाने के बाद एमवाय अस्पताल के ब्लड डिपार्टमेंट ने उसे काम पर आने से रोक दिया था। इसे लेकर वह काफी परेशान रहता था। अंत में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक गौरव के मामा दीपक ने बताया उसके पिता की बीमारी के चलते काफी पहले ही मौत हो चुकी है। परिवार में बड़े भाई की मानसिक स्थिति ठीक नहीं वहीं छोटा भाई गैस कंपनी में काम करता है।