Kamal Nath: शिवराज ने ठीक कहा, जनता तय करेगी कौन लायक, कौन नालायक

MP By Poll 2020: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ का पलटवार, गिनाई अपनी सरकार की उपलब्धियां

Updated: Sep 22, 2020 03:41 PM IST

Kamal Nath: शिवराज ने ठीक कहा, जनता तय करेगी कौन लायक, कौन नालायक

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने लायक नालायक वाले बयान पर राजनीति गरमाने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर पलटवार किया है। उन्हाेंने मुख्यमंत्री चौहान पर तंज कसते हुए कहा है कि 'शिवराज जी आपने ठीक कहा कि जनता तय करेगी कि लायक कौन है और नालायक कौन है,यह अधिकार तो वैसे भी जनता का ही है।

कमल नाथ ने कहा है कि आज आप मुखर हो रहे हैं, उस समय चुप क्यों हो जाते हैं जब आपकी पार्टी के लोग मेरे बारे में अपमानजनक टिप्पणियां करते हैं? आप खुद मुझे कभी काले दिल वाला, कभी ऐ कमलनाथ और कभी क्या, कभी क्या, कह कर सम्बोधित करते हैं। आप के सम्मानीय मंत्रीगण भी मेरे व कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बारे में निरंतर अपमानजनक टिप्पणियां  करते हैं, तब आप कहां चले जाते हैं? तब तो आपको आरोपों के कीचड़ बहुत अच्छे लगते हैं।

प्रदेश की जनता ने सब देखा है
कमल नाथ ने शिवराज सिंह चौहान को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि प्रदेश की 8 करोड़ जनता ने आप का 15 वर्ष का शासन भी देखा है और वर्तमान की 6 माह की सरकार भी देखी है और मेरी 15 माह की सरकार भी देखी है। आप 15 वर्ष के कामों का तो हिसाब देना नहीं चाहते लेकिन मुझसे 15 माह का हिसाब ज़रूर मांगते हैं। वह खुद काम के आधार पर बेहतर आकलन करना जानती है कि किसकी सरकार के काम लायकी के हैं और किसके नालायकी के?

कमल नाथ ने पेश किया लेखा जोखा

पीसीसी चीफ कमल नाथ ने कहा कि मैं आपके (शिवराज) पूर्व के 15 वर्ष के कार्यकाल की अभी बात करना नहीं चाहता, मैं तो अभी आपकी सरकार के इस कोरोना महामारी के दौरान के छह माह के कुछ कामों को और मेरे 15 माह के सरकार के कुछ प्रमुख कामों को जनता के बीच में रखकर, उनसे ही पूछ रहा हूं कि वे ही फैसला करे कि किसकी सरकार के काम लायकी के थे और किसके नालायकी के हैं?

  • मैंने अपनी 15 माह की सरकार में प्रदेश को माफिया मुक्त, भय मुक्त प्रदेश बनाने के लिये सघन अभियान चलाया, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी?
  • मेरी सरकार ने मिलावट के खिलाफ “शुद्ध को लेकर युद्ध “अभियान चलाया, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी?
  • मेरी सरकार ने 26 लाख किसानों का कर्ज माफ किया, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • मेरी सरकार ने उपभोक्ताओं को 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली प्रदान की,यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • मेरी सरकार ने प्रदेश में निवेश व रोजगार को लेकर निरंतर कार्य किए, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • हमारी सरकार ने कन्या विवाह की राशि व सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाई, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • हमने निराश्रित गौवंश के लिये एक हज़ार गौशाला बनाने का निर्णय लिया, यह मेरी सरकार की लायकी है या नालायकी? 

Click: लायक नालायक पर शिवराज चौहान और कमलनाथ में विवाद

कमल नाथ ने कहा कि वे इस कोरोना महामारी के भीषण संकट काल में शिवराज चौहान की छह माह की सरकार में हुए कुछ प्रमुख कार्य व फ़र्ज़ीवाडे ही जनता के सामने रख रहे हैं।  

  • प्रदेश में अति वर्षा,बाढ़ व कीटों के प्रकोप से किसानों की लाखों हेक्टेयर फसलें खराब हो गई, आपने खूब बाढ़ पर्यटन किया, खूब लच्छेदार भाषण दिये लेकिन पीड़ित किसानो को अभी तक मुआवजा नहीं मिला, यह आपकी सरकार की लायकी है या नालायकी?
  • इस महामारी में पहले से ही परेशान किसान अपनी फसल के लिए यूरिया को लेकर परेशान होता रहा। जमकर मुनाफाखोरी व कालाबाजारी हुई क्योंकि आपकी सरकार ने सहकारी समितियों से यूरिया वितरण का काम लेकर निजी हाथो में सौंप दिया यह आपकी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • आपकी सरकार में गरीबों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली से मिलने वाला चावल जानवरों के खाने योग्य बांटा गया, इसमें बड़ा घोटाला सामने आया, यह आपकी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • इस महामारी में पहले ही एक तरफ़ जनता को इलाज भी नहीं मिल पा रहा है, उनकी मौतें हो रही है और दूसरी तरफ प्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट है और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी व मुनाफ़ाख़ोरी चालू हो गयी है। कोरोना की भयावहता को देखते हुए  आपकी सरकार ने प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के कोई इंतजाम तक नहीं किए गए, जिसके कारण देवास व भोपाल में मरीजों की मौत हुई, यह आपकी सरकार की लायकी है या नालायकी? 
  • आपकी सरकार ने किसानों की कर्ज माफी पर रोक लगा दी और कर्ज माफी को आपकी सरकार पाप बता रही है, यह लायकी है या नालायकी?
  • आपकी सरकार ने हमारे द्वारा कन्या विवाह की बढ़ाई गई 51 हज़ार की राशि को वापस कम करने का निर्णय लिया, यह लायकी है या नालायकी?