बिजली महंगी करने के फैसले का कमल नाथ ने किया विरोध, सड़क से सदन तक आंदोलन की दी चेतावनी

जनता का बिजली बिल महंगा करने की तैयारी में है शिवराज सरकार, 21 हजार करोड़ की सब्सिडी आधा करने की है योजना, 100 यूनिट से ज्यादा की खपत होने पर 8.40 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से आएगा बिल

Publish: Sep 04, 2021, 12:11 PM IST

बिजली महंगी करने के फैसले का कमल नाथ ने किया विरोध, सड़क से सदन तक आंदोलन की दी चेतावनी

भोपाल। प्रदेश की जनता को महंगी दरों पर बिजली बिल उपलब्ध कराने के शिवराज सरकार के फैसले का जमकर विरोध हो रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने शिवराज सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए यह चेतावनी दी है कि अगर जनता पर महंगी बिजली का भार डाला गया, तो कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक इसका विरोध करेगी। कमल नाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि शिवराज सरकार पूरे प्रदेश को अंधकार की ओर ले गई है। 

पीसीसी चीफ कमल नाथ ने प्रदेश भर में बिजली महंगी करने के शिवराज सरकार के निर्णय का विरोध करते हुए कहा है कि वर्तमान शिवराज सरकार प्रदेश को अंधकार की ओर ले गई है, कई-कई घंटों की अघोषित कटौती जारी है, मनमाने बिजली बिलों की मार जनता पर थोपी जा रही है और वहीं अब दूसरी और गुपचुप तरीके से बिजली महंगी करने की तैयारी की जा रही है, इन योजनाओं में बदलाव करने की भी तैयारी की जा रही है।

कमल नाथ ने आगे कहा कि इसको लेकर प्रस्ताव तैयार हो रहे हैं ,किसानों की सब्सिडी घटाकर उनकी बिजली भी महंगी करने की भी तैयारी की जा रही है। कमल नाथ ने चेतावनी देते हुए कहा कि शिवराज सरकार यह समझ ले यदि उपभोक्ता और किसानों पर महंगी बिजली का भार डाला गया तो कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं है। सड़क से सदन तक हम ऐसे प्रस्तावों और निर्णयों का विरोध करेंगे। 

इसके साथ ही कमल नाथ ने अपनी सरकार के कार्यकाल की याद दिलाई हुए कहा कि हमारी 15 माह की सरकार में हमने आम उपभोक्ताओ और किसानों को भरपूर बिजली प्रदान की और वह भी सस्ती दरों पर।हमने 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली प्रदान की और 150 यूनिट तक हमारी इंदिरा गृह ज्योति योजना का लाभ उपभोक्ताओं को प्रदान किया।

यह भी पढ़ें : MP के लाखों बिजली उपभोक्ताओं को झटका, 101 यूनिट खपत पर 8.40 रुपए के हिसाब से बनेगा बिल

दरअसल शिवराज सरकार बिजली उपभोक्ताओं और किसानों को बिजली में दी जाने वाली 21 हजार करोड़ से ज्यादा की सब्सिडी आधा करने की योजना बना रही है। जिसका सीधा असर प्रदेश के करीब 98 लाख घरेलू बिजली उपभोक्ताओं पर पड़ने वाला है। शिवराज सरकार कमल नाथ सरकार द्वारा शुरू की गई इंदिरा गृह ज्योति योजना और इंदिरा किसान ज्योति योजना का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर करने जा रही है। 

शिवराज सरकार की इस योजना में सौ यूनिट से ज्यादा बिजली की खपत होने पर उपभोक्ताओं से 8.40 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली बिल वसूलने की तैयारी कर रही है। इसके क्रियान्वयन को लेकर ऊर्जा विभाग ने मुख्य सचिव को प्रस्ताव भी भेज दिया है।