MP के लाखों बिजली उपभोक्ताओं को झटका, 101 यूनिट खपत पर 8.40 रुपए के हिसाब से बनेगा बिल

कमलनाथ सरकार की इंदिरा ज्योति योजना का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर करने की तैयारी, नाम बदलते ही उपभोक्ताओं की जेब पर बढ़ेगा बोझ, सब्सिडी में कटौती करने का जा रही है सरकार

Updated: Sep 04, 2021, 10:18 AM IST

MP के लाखों बिजली उपभोक्ताओं को झटका, 101 यूनिट खपत पर 8.40 रुपए के हिसाब से बनेगा बिल

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार इंदिरा गृह ज्योति और इंदिरा किसान ज्योति योजनाओं का नाम बदलने जा रही है। कमलनाथ सरकार के दौरान लागू हुए इन योजनाओं का नाम बदलने के साथ ही शिवराज सरकार लाखों उपभोक्ताओं को बिजली का झटका देने की तैयारी में है। नई योजना के तहत घरेलू उपभोक्ताओं का खपत 100 यूनिट की सीमा से एक यूनिट भी ज्यादा होने की स्थिति में उन्हें 8.40 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से पूरा बिल देना होगा।

दरअसल, शिवराज सरकार ने इंदिरा गृह ज्योति व इंदिरा किसान ज्योति योजनाओं का लाभ उठा रहे लोगों की सब्सिडी में कटौती करने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि सरकार की योजना ये है कि घरेलू उपभोक्ताओं और किसानों को दी जा रही सालाना 21 हजार करोड़ रुपए की सब्सिडी को आधा कर दिया जाए। किसानों की सब्सिडी घटाने के लिए तो राज्य सरकार ने सात सूत्री प्रस्ताव भी तैयार कराया है।

यह भी पढ़ें: गोपाल भार्गव के बिगड़े बोल, दिवंगत नेता को बताया असुर, बेटे का जवाब- आप अपनी भाषा बोलो, हमारे संस्कार बोलेंगे

सरकार के इस फैसले के बाद मध्य प्रदेश के करीब 98 लाख घरेलू बिजली उपभोक्ताओं की जेब पर इसका सीधा असर पड़ेगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक मंत्री समूह की सिफारिश के बाद ऊर्जा विभाग ने प्रस्ताव बनाकर इसे मुख्य सचिव को भेज दिया है। सरकार के इस प्रस्ताव पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा है कि, 'शिवराज जी, एक तरफ़ प्रदेश अंधेरे से जूझ रहा है, दूसरी तरफ़ आपकी वसूली नहीं रूक रही। “विधायक ख़रीदी की वसूली जारी है”