ना मैं महाराजा, ना मैं टाइगर, ना मैं मामा, मै जनसेवक

Kamal Nath : जब तक किसानों की कर्ज माफ़ी नहीं होगी, हम चुप नहीं बैठेंगे

Publish: Jul-08, 2020, 12:05 AM IST

ना मैं महाराजा, ना मैं टाइगर, ना मैं मामा, मै जनसेवक

बदनावर। उपचुनाव के लिए कांग्रेस के प्रचार अभियान का शुभारंभ करने आए पूर्व मुख्‍यमंत्री और प्रदेश कांगेस अध्‍यक्ष कमलनाथ ने जनसभा में कहा कि मैं ना तो महाराजा हूं, ना ही टाइगर हूं और ना ही मामा हूं। मैं तो बस एक जनसेवक कमलनाथ हूं। मेरा काम सिर्फ मध्यप्रदेश की जनता की सेवा करना है।

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा क़र्ज़माफ़ी को लेकर झूठ परोसकर भ्रम फैलाने का कार्य कर रही है। जो भाजपाई आज क़र्ज़माफ़ी का विरोध कर रहे है, हमने उनके कई परिजनों का व उनके रिश्तेदारों का भी क़र्ज़ माफ़ किया है।  इसका हमने समय- समय पर प्रमाण भी दिया है। हम तो तीसरे चरण का भी क़र्ज़ माफ़ जून से करने जा रहे थे कि एक महाराज रूपी नेता ने प्रदेश की जनता के जनमत का सौदा भाजपा से कर दिया और हमारी लोकप्रिय सरकार को गिरा दिया। हमारी क़र्ज़माफ़ी की इस योजना को भाजपा सरकार को हर हाल में पूरा करना होगा। जब तक किसानोंं की कर्ज माफ़ी नहीं होगी, हम चुप नहीं बैठेंगे।

नाथ ने कहा कि मैंने तो माफियाओं से प्रदेश को मुक्त कराया, इसमें मेरी कौन सी गलती थी? मैंने तो प्रदेश की पहचान राष्ट्रीय स्तर पर पहुँचाने का कार्य किया, इसमें मेरी क्या गलती थी? प्रदेश में निवेश लाने का कार्य किया ताकि युवाओं को रोज़गार मिल सके, बेरोज़गारी दूर हो सके, इसमें मेरी क्या गलती थी? प्रदेश में महिलाओं को सम्मान व सुरक्षा दी , इसमें मेरी क्या गलती थी?

उन्होंने कहा कि आज जो प्रत्याशी चुनाव लड़ने के लिए आपके समक्ष मैदान में आ रहे हैं वह किस विचारधारा से आएंगे? जिन विधायकों को जनता ने क्षेत्र के विकास के लिये चुना था वो स्वयं का विकास कर अपने क्षेत्र को गड्डे में छोड़ गये। यह आपको याद रखना है। ऐसे लोगों को जनता को सबक सिखाना है। इन्होंने जनता के विश्वास के साथ खिलवाड़ किया है।

इस अवसर पर पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा, बाला बच्चन, कांतिलाल भुरिया, हनी बघेल, पाँचीलाल मेडा, प्रताप ग्रेवाल,  डॉ.हीरालाल अलावा, बालमुकुंद गौतम उपस्थित थे।