किसान कांग्रेस का कर्तव्यों का एहसास अभियान, सायरन बजने के समय गाड़ियों की हेड लाइट चालू करने का आह्वान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कल ऐलान किया था कि मंगलवार सुबह 11 बजे और शाम सात बजे प्रदेश भर में कोरोना को लेकर सतर्कता बरतने के लिए सायरन बजाया जाएगा, शिवराज के इस तरकीब के बदले किसान कांग्रेस अब गाड़ियों की हेड लाइट जलाएगी

Updated: Mar 22, 2021, 02:46 PM IST

किसान कांग्रेस का कर्तव्यों का एहसास अभियान, सायरन बजने के समय गाड़ियों की हेड लाइट चालू करने का आह्वान
Photo Courtesy : Business Today

भोपाल। शिवराज सरकार के सायरन अभियान के बदले किसान कांग्रेस ने कर्तव्यों का एहसास दिलाने की ठान ली है। किसान कांग्रेस ने लोगों से कहा है कि वे सायरन बजते समय अपनी गाड़ियों की हेड लाइट चालू करके सरकार को उसके कर्तव्यों का एहसास कराएं। किसान कांग्रेस ने गाड़ियों की हेडलाइट जलाने को राज्य सरकार के दिमाग की बत्ती जलाने की कोशिश से जोड़कर यह अपील की है। संगठन का कहना है कि कोरोना महामारी के प्रति तो हम सब सतर्कता बरत ही रहे हैं, लेकिन साथ ही सरकार को उसकी ज़िम्मेदारियों का एहसास दिलाना भी ज़रूरी है। 

किसान कांग्रेस ने अपने इस अभियान को कर्तव्यों का एहसास अभिययान नाम दिया है। अपने इस अभियान के ज़रिए किसान कांग्रेस राज्य सरकार को उसके कर्तव्यों का एहसास दिलाने की कोशिश करेगी। किसान कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केदार शंकर सिरोही ने बताया कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य राज्य सरकार को प्रदेश की बेरोज़गारी, भुखमरी, किसान आत्महत्या, महंगाई समेत तमाम ज़रूरी समस्या के प्रति जागरूक करना है। सरकार को उसके कर्तव्यों का एहसास दिलाना ही इस अभियान का प्रमुख उद्देश्य है। किसान नेता ने कहा कि महामारी के प्रति हम सब सतर्कता बरत रहे हैं लेकिन साथ ही सरकार को उसकी ज़िम्मेदारियों का एहसास दिलाना भी ज़रूरी है।  

यह भी पढ़ें : कोरोना के खिलाफ शिवराज की नई तरकीब, पूरे प्रदेश में सुबह-शाम बजवाएंगे सायरन

दरअसल प्रदेश में कोरोना पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सायरन बजाने का एलान किया है। कल यानी मंगलवार सुबह 11 बजे और शाम के 7 बजे पूरे प्रदेश भर में सायरन बजाया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत सायरन बजते ही तमाम लोगों को मास्क लगाने और दो गज की दूरी सुनिश्चित करने का संकल्प लेना है। किसान कांग्रेस ने भी शिवराज सरकार को संकल्पों की याद दिलाने का फैसला किया है।