कोर्ट ने मृतक को भेजा समन, न्यायालय में पेशी पर बुलाया, उसी केस में हो चुकी है मौत

सड़क हादसा मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मृतक को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। नोटिस देखकर परिजन चकित हैं।

Updated: Nov 07, 2022, 11:02 AM IST

कोर्ट ने मृतक को भेजा समन, न्यायालय में पेशी पर बुलाया, उसी केस में हो चुकी है मौत

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां कोर्ट ने मृतक महिला को समान भेजकर जवाब मांगा है। दरअसल, कोर्ट ने सुनवाई में हाजिर होने के लिए उसी महिला के नाम समन भेज दिया, जिसकी मौत इस हादसे में घटनास्थल पर ही हो चुकी थी।

पुलिसकर्मी जब महिला के घर समन लेकर पहुंचे तो उसे देखकर बेटा हैरान रह गया। उसने कहा- कोर्ट में पेश करने के लिए मां को कहां से लाऊं? उनका तो इसी सड़क हादसे में निधन हो चुका है। पुलिसकर्मियों को भी भी इस बात पर भरोसा नहीं हुआ। बाद में बेटे ने उन्हें नगर निगम द्वारा जारी डेथ सर्टिफिकेट दिखाई। पुलिसकर्मी डेथ सर्टिफिकेट लेकर वहां से निकल पड़े।

जानकारी के मुताबिक टीटी नगर क्षेत्र में मकान नंबर -202 बाणगंगा, न्यू रेस्ट हाउस के पीछे रहने वाले दर्शन लाल की पत्नी धनवंती शर्मा हाउस वाइफ थीं। बीते साल 7 अक्टूबर 2021 की सुबह नवरात्रि के पहले दिन वह पीतल वाली माता देवी मंदिर में दर्शन करने गईं। वहां वह मंदिर के बाहर खड़ी थीं। इतने में तेज रफ्तार बाइक चालक ने उन्हें टक्कर मार दी। हादसे में धनवंती की मौके पर ही मौत हो गई थी।

टीटी नगर थाना पुलिस ने घटनास्थल के पास के CCTV फुटेज की मदद से बाइक की पहचान की। जांच में सामने आया कि बाइक ( MP04-QC4920) नाबालिग चला रहा था। पुलिस ने बाइक जब्त कर लड़के के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। आरोपी के नाबालिग होने से केस किशोर न्याय बोर्ड पहुंचा। इसी मामले की सुनवाई चल रही है।

धनवंती के बेटे रवि ने बताया कि घटना वाले दिन से पुलिस हम लोगों को गुमराह करती रही। हमने जब घटना के बाद पुलिस से पूछा कि क्या मां की जान लेने वाली गाड़ी जब्त हो गई? आरोपी पकड़े गए हैं? पुलिस कहती रही कि सब पकड़ लिए गए हैं, जबकि असलियत में महीनों बाद पुलिस ने गाड़ी जब्त की और आरोपी पकड़ा। उसमें भी आरोपी को नाबालिग बना दिया गया।