भोपाल में वैलेंटाइन्स डे पर कई रेस्टोरेंट्स में तोड़फोड़, बीजेपी के पूर्व विधायक समेत 17 गिरफ्तार

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह और उनके समर्थकों पर जगह-जगह तोड़फोड़, हिंसा करने का आरोप, संस्कृति बचाने के नाम पर प्रेमी जोड़ों से बदसलूकी किए जाने की भी शिकायतें

Updated: Feb 15, 2021, 08:20 AM IST

भोपाल में वैलेंटाइन्स डे पर कई रेस्टोरेंट्स में  तोड़फोड़, बीजेपी के पूर्व विधायक समेत 17 गिरफ्तार

भोपाल। दुनिया भर में प्रेम के दिन के रूप में मनाए जाने वाले वैलेंटाइन्स डे पर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कुछ लोगों ने नफरत और हिंसा फैलाने की कोशिश की। पुलिस ने इस सिलसिले में भोपाल मध्य विधानसभा क्षेत्र के पूर्व बीजेपी विधायक सुरेन्द्रनाथ सिंह और उनके 17 समर्थकों को गिरफ्तार भी किया है। इन पर शहर के कई रेस्टोरेंट्स में घुसकर तोड़फोड़ करने और रेस्टोरेंट मालिकों को डराने-धमकाने का आरोप है। कई जगहों पर रेस्टोरेंट्स में मौजूद लोगों को डराने-धमकाने और प्रेमी जोड़ों के साथ बदसलूकी किए जाने की शिकायतें भी सामने आई हैं।

दरअसल, राजधानी भोपाल में वैलेंटाइन्स के मौके पर दोपहर से ही अलग-अलग संगठनों के झंडे-बैनर लिए लोग दर्जनों रेस्टोरेंट्स और लाउंज के बाहर प्रदर्शन करते नजर आए। भोपाल के पार्क, रेस्टोरेंट्स, लाउंज और क्लबों पर इन संगठनों के साथ ही साथ पुलिस का भी पहरा देखा गया। इतना ही नहीं, कई जगहों पर तो पुलिस खुद प्रेमी जोड़ों को खदेड़ती दिखी।  सुरेन्द्रनाथ सिंह के समर्थकों ने जय श्री राम का नारा लगाते हुए एक लाउंज में जमकर तोड़फोड़ भी की। बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि ये लाउंज मासूम बच्चियों को बर्बाद कर रहे हैं और लव जिहाद को बढ़ावा दे रहे हैं।  भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग के कार्यकर्ता बैट और डंडों से तोड़फोड़ करते दिखे। भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने इस तोड़फोड़ और उत्पात को संस्कृति बचाने की पहल करार दिया।

भोपाल के जंकयार्ड लाउंज के मैनेजर ने तोड़फोड़ और फर्नीचर को नुकसान पहुंचाने के आरोप में बीजेपी नेता सुरेन्द्रनाथ सिंह समेत कई लोगों के खिलाफ श्यामला हिल्स थाने में एफआईआर दर्ज कराई। मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि यह भी दावा किया जा रहा है कि इन सभी ने खुद ही थाने में जाकर गिरफ्तारी दी है।

 

हबीबगंज थाना क्षेत्र के काऊबॉय रेस्टोरेंट में भी जबरदस्ती घुसकर तोड़फोड़ की गई। इस दौरान उत्पाती भीड़ में कथित रूप से खुद को शिवसेना कार्यकर्ता बताने वाले लोग भी शामिल थे। आरोपियों ने यहां न केवल तोड़फोड़ की, बल्कि खाना खा रहे ग्राहकों के साथ बदसलूकी भी की। इतना ही नहीं, उन्होंने खानेपीने का सारा सामान भी फेंक दिया। इस मामले में भी हबीबगंज पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

हालांकि हबीबगंज में हुए इस उपद्रव में शिवसैनिकों के शामिल होने की खबर को शिवसेना ने खारिज किया है। शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा है कि ऐसे उपद्रवियों का शिवसेना से कोई लेनादेना नहीं है। शिवसेना इस तरह के उपद्रव की कड़े शब्दों में निंदा करती है। शिवसेना ने मध्य प्रदेश पुलिस से इन घटनाओं में शामिल सभी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग भी की है।