सरकार के अत्याचार के खिलाफ अरुण यादव और विक्रांत भूरिया ने लगाई सांकेतिक फांसी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव और यूथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने आज खंडवा स्थित केवलराम पेट्रोल पंप पर सांकेतिक रूप से फांसी लगाकर लोगों की पीड़ा जाहिर की

Updated: Jul 07, 2021, 03:38 PM IST

सरकार के अत्याचार के खिलाफ अरुण यादव और विक्रांत भूरिया ने लगाई सांकेतिक फांसी

खंडवा। मध्यप्रदेश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, महिला अत्याचार व माफियाराज के खिलाफ कांग्रेस सड़कों पर उतरी हुई है। इसी बीच कांग्रेस नेताओं ने आज अनोखा विरोध प्रदर्शन किया है। कांग्रेस नेताओं ने आज सांकेतिक तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या की है।

मामला मध्यप्रदेश के खंडवा जिले का है। यहां पूर्व केंद्रीय मंत्री व मध्यप्रदेश यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया पहुंचे हुए थे। इस दौरान दोनों नेताओं ने पेट्रोल पंप पर जाकर फांसी का फंदा लटकाया और सांकेतिक तौर पर आत्महत्या कर आम जनता की पीड़ा जाहिर की।

यह भी पढ़ें: भारतीयता का बोध और देशभक्ति का पाठ पढ़ाने के लिए MP में होगा बाल कांग्रेस का गठन

विक्रांत भूरिया ने इस संबंध में ट्वीट कर कहा, 'सरकार के अत्याचार के विरोध के सांकेतिक फाँसी, समाज के पीडित किसान,शिक्षित बेरोजगार, व्यापारी व आम आदमी के अधिकारों की आवाज उठाते हुए आज अरुण यादव जी व युवा कॉंग्रेस के साथियों के साथ खंडवा के केवलराम पेट्रोल पंप पर सांकेतिक रूप से फांसी लगाकर आम जनता की पीड़ा जाहिर की।'

मध्यप्रदेश में इन दिनों महंगाई, माफियाराज और महिला अत्याचार में काफी बढ़ोतरी हुई है। हाल ही में नेमावर में आदिवासी परिवार के साथ हुए जघन्य अपराध को लेकर प्रदेश भर के लोग आक्रोशित हैं। पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर कांग्रेस लगातार हल्ला बोल रही है। उधर रेत उत्खनन का व्यापार तमाम प्रयासों स बावजूद फल-फूल रहा है। कांग्रेस रेत माफियाओं पर शिकंजा कसे जाने की लगातार मांग कर रही है।