MP By Election: सिंधिया पूरी कांग्रेस खरीद सकते हैं, बीजेपी उम्मीदवार नारायण पटेल का दावा

Narayan Patel: मांधाता विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार नारायण पटेल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए हैं

Updated: Oct 15, 2020 11:21 PM IST

MP By Election: सिंधिया पूरी कांग्रेस खरीद सकते हैं, बीजेपी उम्मीदवार नारायण पटेल का दावा
Photo Courtesy: Zee News

मध्य प्रदेश के खंडवा की मांधाता विधानसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार नारायण पटेल कांग्रेस पर हमला करने के चक्कर में वही बात कर गए, जिसका आरोप कांग्रेस हमेशा बीजेपी पर लगाती है। पुनासा में नामांकन रैली के दाैरान कांग्रेसियों ने ‘बिकाऊ नहीं टिकाऊ विधायक’ चाहिए का नारा लगाया तो कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए नारायण पटेल तिलमिला गए। अपनी इसी तिलमिलाहट में उन्होंने कह दिया कि हमारे ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास इतनी दौलत है कि आधी नहीं, पूरी कांग्रेस खरीद लें।

बीजेपी उम्मीदवार नारायण पटेल ने कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए हमारे खिलाफ बिकाऊ होने के नारे लगाते हैं। उन्होंने कहा कि यह बिलकुल घिसी-पिटी बात हो गई है। पटेल ने कहा कि कांग्रेस के 25 विधायकों ने इस्तीफा देकर त्याग का काम किया है। वरना हमारे सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है कि आधी क्या वे पूरी कांग्रेस खरीद लें। इतनी बड़ी जायदाद है उनकी। पटेल ने ये आरोप भी लगाया कि कांग्रेस ने 15 माह में कोई विकास नहीं किया।

हालांकि पूरी कांग्रेस खरीदने की सिंधिया की पैसों की ताकत का डंका बजाते समय नारायण पटेल शायद भूल गए कि सियासी दल कोई मंडी में सजी दुकान नहीं होते, जहां सब कुछ बिकाऊ होता है। सिंधिया के पास चाहे कितनी भी दौलत हो, वो खरीद तो उसी को सकते हैं, जो बिकाऊ हो।

कुल मिलाकर, नारायण पटेल ने गुस्से में ठीक वही बात कर दी, जिसका आरोप कांग्रेस लगाती है। कांग्रेस का आरोप है कि राज्य में चुनकर आई कमलनाथ की सरकार को बीजेपी ने खरीद-फरोख्त करके गिराया है। और अब कांग्रेस से बीजेपी में आए नेता भी खुलेआम सिंधिया की खरीद-फरोख्त की ताकत की दुहाई दे रहे हैं। आपको याद दिला दें कि ये वही नारायण पटेल हैं, जिन्होंने कुछ दिनों पहले आदतवश बीजेपी की जगह कांग्रेस के लिए वोट देने की अपील कर दी थी।

नारायण पटेल ही नहीं, कालसन माता मंदिर परिसर की चुनावी सभा में कृषि मंत्री कमल पटेल ने भी सियासत का स्तर गिराने वाले बयान दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गांव प्रदेश के नायक हैं,  जबकि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ खलनायक और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी सिर्फ कार्टून हैं।

बीजेपी नेताओं के ये बिगड़े बोल बता रहे हैं कि कांग्रेस का बिकाऊ बनाम टिकाऊ का नारा उन्हें काफी चुभ रहा है। शायद इसलिए क्योंकि मध्य प्रदेश को दल बदल की वजह से ही महज डेढ़ साल में बड़े पैमाने पर उपचुनाव का बोझ उठाना पड़ रहा है और कांग्रेस का ये नारा इसी हकीकत को बार-बार लोगों के सामने ले आता है।