भोपाल-इंदौर में बुधवार से नाइट कर्फ्यू, 8 शहरों में रात 10 बजे बंद होंगे बाज़ार

आज भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज की अध्यक्षता में हुई कोरोना की समीक्षा बैठक में कई अहम फ़ैसले किए गए हैं, मुख्यमंत्री ने लोगों से कोरोना से बचाव के लिए हर तरह की सावधानी बरतने को भी कहा है

Updated: Mar 16, 2021, 08:25 PM IST

भोपाल-इंदौर में बुधवार से नाइट कर्फ्यू, 8 शहरों में रात 10 बजे बंद होंगे बाज़ार
photo courtesy: news18

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी के फिर से पांव पसारने की बढ़ती आहट के मद्देनज़र भोपाल और इंदौर में कल यानी 17 मार्च से नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा। यह फैसला आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कोरोना की समीक्षा बैठक में किया गया। इसके साथ ही महाराष्ट्र से आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी रखने और उन्हें एक हफ्ते के लिए आइसोलेशन में रखने का फैसला भी किया गया है। 

भोपाल और इंदौर में रात को कब से कब तक कर्फ्यू लगेगा, इसका निर्णय कलेक्टर करेंगे। दोनों जगह के कलेक्टर अलग से नाइट कर्फ्यू के लिए आदेश जारी करेंगे। भोपाल इंदौर के अलावा मध्य प्रदेश के 8 और बड़े शहरों में भी रात 10 बजे के बाद बाज़ार बंद रखने का फैसला किया गया है। ये शहर हैं - जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बैतूल और खरगौन। इन आठ शहरों में रात को कर्फ्यू जैसी स्थिति तो नहीं रहेगी, लेकिन रात दस बजे बाजारों की कड़ाई से बंद कराया जाएगा। इन आठ शहरों में भी रात में बाजार रखने का आदेश कल यानी 17 मार्च से ही लागू होगा। सरकार ने फैसला किया है कि इन शहरों की हालत पर अगले तीन दिनों तक बारीकी से नज़र रखी जाएगी। उसके बाद भी अगर 3 दिन तक लगातार केस बढ़ते रहे तो यहां भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया जाएगा।

आज हुई बैठक में मुख्यमंत्री सभी जिलों के हालात की समीक्षा की। इसमें मुख्य रूप से वहां कोरोना के मामले बढ़ने के कारणों पर चर्चा की गई। एहतियात के तौर पर भोपाल में धारा 144 सोमवार से ही लगाई जा चुकी है। कई तरह के कार्यक्रमों और खेलकूद की गतिविधियों पर भी कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं। महाराष्ट्र से आने वालों के लिए निगेटिव रिपोर्ट साथ लाना अनिवार्य कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा है कि देश और प्रदेश में कोरोना के केस जितनी तेजी से बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए सावधानी और सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि आम लोगों से निवेदन है कि वे निश्चिंत न हों और मास्क लगाने समेत हर तरह की सावधानी बरतें। मध्य प्रदेश में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। बीते हफ्तेभर में इंदौर और भोपाल में एक दिन में कोरोना के 1000 से अधिक मामले सामने आए हैं।