शिवपुरी : बीजेपी को नहीं दिया वोट तो पंचायत ने दलित परिवार को गांव से निकाला

शिवपुरी ज़िले के झलवासा गांव के निवासी हरवीर सिंह और उनका परिवार अब ज़िले के एसपी ऑफिस के बाहर धरना दे रहा है

Updated: Dec 01, 2020, 09:40 PM IST

शिवपुरी : बीजेपी को नहीं दिया वोट तो पंचायत ने दलित परिवार को गांव से निकाला

शिवपुरी। मध्य प्रदेश के शिवपुरी ज़िले के झलवासा गांव की पंचायत ने एक दलित परिवार को गांव से निकाल दिया है। दलित परिवार के साथ यह बर्ताव सिर्फ इसलिए किया गया, क्योंकि उन्होंने उपचुनावों में बीजेपी उम्मीदवार और अब विधायक सुरेश धाकड़ को वोट न देकर बीएसपी उम्मीदवार को वोट दिया था। विधायक के रिश्तेदार और स्थानीय प्रशासन से प्रताड़ित होने के बाद अब दलित परिवार ज़िले के एसपी ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गया है और न्याय की गुहार लगा रहा है।  

झलवासा गांव शिवपुरी ज़िले की पोहरी विधानसभा सीट के अंतर्गत आता है। हाल ही में मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे, जिनमें एक पोहरी विधानसभा सीट भी थी। इस सीट से बीजेपी ने सिंधिया समर्थक दलबदलू नेता सुरेश धाकड़ को अपना उम्मीदवार बनाया था। शिवराज सरकार में राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ ने इस सीट से बीएसपी उम्मीदवार कैलाश कुशवाह को हरा कर चुनाव जीत लिया। लेकिन बीजेपी विधायक पर अब क्षेत्र के ही दलित परिवार को प्रताड़ित करने का आरोप लग रहा है।      

कहा जा रहा है कि पोहरी विधानसभा के बैराड़ थाने के अंतर्गत आने वाले झलवासा गांव के निवासी हरवीर सिंह और उनके परिवार ने बीएसपी उम्मीदवार को वोट दिया था। चुनाव परिणाम आने के बाद गांव के ही धाकड़ समाज के  लोगों ने बीजेपी प्रत्याशी सुरेश धाकड़ को वोट न देने को लेकर हरवीर सिंह की शिकायत कर दी। इसके बाद गांव में बाकायदा एक पंचायत बुलाई गई, जिसमें दलित परिवार को गांव से बाहर निकाले जाने का फरमान सुना दिया गया। पंचायत के फरमान के बाद गांव के दबंगों ने पूरे परिवार को घर से बेघर कर दिया। 

पीड़ित हरवीर सिंह का आरोप है कि स्थानीय प्रशासन बीजेपी विधायक और उनके रिश्तेदारों के दबाव में उनके परिवार की सुन नहीं रहा है। हरवीर सिंह का कहना है कि स्थानीय प्रशासन से शिकायत करने पर भी पुलिस हम पर ही झूठे मुक़दमे दर्ज कर जेल भेज देती है। हरवीर सिंह अपने पूरे परिवार के साथ ज़िले के एसपी ऑफिस के बाहर धरना दे रहे हैं। एसपी ऑफिस के बाहर ही चूल्हे पर उनका खाना भी बन रहा है। हरवीर सिंह का कहना है कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिल जाता वह यहां से नहीं उठेंगे। 

पूरे मामले पर शिवपुरी के एएसपी प्रवीण प्रवीण कुमार भूरिया ने स्थानीय मीडिया से बस इतना ही कहा है कि इस पूरे मामले की जानाकरी स्थानीय थाने बैराड़ से ली जा रही है। सारी जानकारी मिलने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।