कृषि मंत्री के गृह जिले में ही किसान सबसे ज्यादा परेशान, हरदा की सभा में बोले कमलनाथ

शिवराज सरकार ने 18 वर्षों में प्रदेश को असुरक्षा दी, बेरोजगारी दी, भ्रष्टाचार दिया और घर-घर शराब दी, 15 महीने की कांग्रेस सरकार ने 100 रू में 100 यूनिट बिजली, किसानों की कर्जमाफी की: कमलनाथ

Updated: Jan 25, 2023, 06:23 PM IST

कृषि मंत्री के गृह जिले में ही किसान सबसे ज्यादा परेशान, हरदा की सभा में बोले कमलनाथ

हरदा। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने बुधवार को हरदा जिले में राज्य सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। हरदा ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम ने कमल पटेल पर निशाना साधते हुए कहा कि कृषि मंत्री के गृह जिले में ही किसान सबसे ज्यादा परेशान हैं।

कमलनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि, 'आज आप सबने इतनी बड़ी संख्या में यहां आकर मुझे और कांग्रेस पार्टी को नई ऊर्जा प्रदान की है। हरदा की पहचान ‘‘खेल“ और ‘‘खेत“ से प्रदेश भर में की जाती है। इस बात का बेहद अफसोस है कि आज खेत का क्या हाल है, यह तस्वीर आप सबके सामने है, मुझे दोहराने की आवश्यकता नहीं है। आज किस प्रकार से पूरे प्रदेश का सत्यानाश किया जा रहा है, हमारे नौजवानों का भविष्य सत्यानाश, हमारे किसानों की आर्थिक मजबूती का सत्यानाश, यह लोग भ्रष्टाचार से पूरे प्रदेश का सत्यानाश करने पर तुले हैं, प्रदेश में ऊपर से नीचे तक भ्रष्टाचार की एक व्यवस्था बना रखी है, कृषि मंत्री का गृह जिला होने के बावजूद आज यहां के क्या हालात हैं। मैं आपसे क्या कहूं क्योंकि आप सबने तो बहुत कुछ स्वयं भुगता है और पूरे प्रदेश में यही हालात है।'

कमलनाथ ने आगे कहा कि, 'मध्य प्रदेश घोटाला प्रदेश होता जा रहा है, कुपोषण प्रदेश होता जा रहा है। शिवराज जी घोषणा मशीन हैं, बल्कि केवल घोषणा मशीन नहीं है, वे मुंह चलाना बहुत अच्छे से जानते हैं, इसलिए भाषण की मशीन भी है, झूठ बोलने की मशीन है। पिछले 18 साल से प्रदेश में भाजपा का राज रहा, लेकिन वे अपने 18 वर्षों का हिसाब देने की बात नहीं करेंगे, अब विकास यात्रा निकालने जा रहे हैं। यह विकास यात्रा नहीं यह तो इनकी  “निकास यात्रा“ है।'

कमलनाथ ने कहा कि, 'हर चुनाव प्रजातंत्र का एक उत्सव होता है, 8 महीने बाद जो चुनाव है वह एक बड़ा प्रजातंत्र का उत्सव है, विकास की बात तो हम करते ही हैं परंतु आने वाले चुनाव में आप सबको अपने देश की संस्कृति जो कि दिल, संबंध और रिश्ते जोड़ने की संस्कृति है, उस संस्कृति पर बड़ा हमला किया जा रहा है, धर्म जाति अथवा भाषा के नाम पर समाज को बरगलाने का और ध्यान भटकाने का प्रयास किया जा रहा है। आने वाला चुनाव हमारी संस्कृति और हमारे संविधान की रक्षा करने का अवसर है। आप सबके सामने यह एक बड़ी जिम्मेदारी है कि कैसा देश और कैसा प्रदेश हम आने वाली पीढ़ियों को सौंपना चाहते हैं।'

कमलनाथ ने कहा कि, 'दिसंबर 2018 में जब 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी थी, तब ऐसा प्रदेश मेरे हाथों में सौंपा गया था जो बेरोजगारी में नंबर वन, किसानों की आत्महत्या में नंबर वन, महिला अत्याचार में नंबर वन, कुपोषण में नंबर वन, भ्रष्टाचार में नंबर वन था। हमने नए सिरे से शुरुआत करने का प्रयास किया था, किसानों को सस्ती बिजली देने का कार्य किया, 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया, 100 रू में 100 यूनिट बिजली दी, जो मध्य प्रदेश के इतिहास में गौशाला नहीं बना करती थी वह गौशाला हमने बनाई। शुद्व का युद्ध अभियान चलाया, माफिया राज खत्म करने की पहल की।'

पीसीसी चीफ ने आगे कहा, 'आज सबसे बड़ी चुनौती हमारे नौजवानों के भविष्य की है। नौजवानों के हाथों को काम तभी मिल पाएगा, जब प्रदेश में निवेश आए। आज देश के निदेशकों को मध्य प्रदेश पर विश्वास नहीं है। भाजपा बड़े-बड़े आयोजन कर लेगी, मीडिया के साथ इवेंट मैनेजमेंट कर लेगी, परंतु प्रदेश में निवेश नहीं आएगा। मैंने प्रयास किया था कि मध्य प्रदेश की एक नई पहचान बनाई जाए, मेरा मानना था कि मध्यप्रदेश की पहचान मिलावट से नहीं हो सकती, माफिया से नहीं हो सकती, 18 साल में शिवराज सिंह जी ने दिया क्या है? पूछिएगा उनसे जब वह विकास यात्रा लेकर आएं। शिवराज सरकार ने महंगाई दी बेरोजगारी दी, भ्रष्टाचार दिया, घर-घर में दारु दी, भर्ती घोटाला दी। आज शिवराज सिंह जी कहते हैं कि एक लाख रोजगार देंगे मैं तो कहता हूं कि पहले सरकार में जो पद खाली पड़े हैं, उन्हें तो भर दो।'

पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा की ध्यान मोड़ने की राजनीति को समझने की सबसे ज्यादा आवश्यकता है। यह नए नए मुद्दे लाएंगे और आपका ध्यान मोड़ने का प्रयास करेंगे जनता को गुमराह किया जाएगा। आप सबसे यही कहना चाहूंगा कि प्रदेश की तस्वीर अपने सामने रखिए सच्चाई का साथ अवश्य दीजिएगा, सच्चाई का साथ देंगे तो मैं आपको आश्वासन देता हूं मध्य प्रदेश के विकास का एक नया इतिहास बनाएंगे। हम नौजवानों के भविष्य का एक नया इतिहास बनाएंगे। कृषि क्षेत्र में एक नई क्रांति लेकर आएंगे। मुझे पूरा विश्वास है की हरदा के लोग सरल स्वभाव के लोग हैं। हरदा की जनता स्वाभिमानी है, आपने विधानसभा के सदस्य अपने मंत्री महोदय को पहचान लिया, आपने भारतीय जनता पार्टी को अवसर देकर देख लिया, दोबारा गलती मत कीजिएगा।'