कॉमेडियन फ़ारूक़ी के खिलाफ पुलिस को नहीं मिला सबूत, बीजेपी विधायक के बेटे के कहने पर किया था गिरफ्तार

इंदौर के तुकागंज पुलिस थाने के इंस्पेक्टर ने एक अंग्रेजी अख़बार से कहा कि फारूकी के ख़िलाफ़ पेश किए गए दो वीडियो में से किसी में नहीं मिले सबूत

Updated: Jan 04, 2021, 06:17 PM IST

कॉमेडियन फ़ारूक़ी के खिलाफ पुलिस को नहीं मिला सबूत, बीजेपी विधायक के बेटे के कहने पर किया था गिरफ्तार
Photo Courtesy: The Logical Indian

इंदौर। हिन्दू देवी देवताओं के कथित अपमान के मामले में जेल में बंद स्टैंड अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के खिलाफ पुलिस को कोई सबूत नहीं मिला है। तुकागंज पुलिस थाने के इंस्पेक्टर कमलेश शर्मा ने एक अंग्रेजी अख़बार को बताया है कि बीजेपी विधायक के बेटे द्वारा फारूकी के खिलाफ पेश किए गए कथित सबूतों में एक भी ऐसा नहीं है, जिसके आधार पर यह कहा जा सके कि स्टैंड अप कॉमेडियन ने हिन्दू देवी देवताओं का अपमान किया है। 

कमलेश शर्मा ने बताया कि उनके सामने शो से जुड़े कुल दो वीडियो पेश किए गए थे। इसमें एक अन्य कॉमेडियन को गणेश भगवान पर मज़ाक करते हुए देखा गया है। लेकिन फारूकी के खिलाफ न तो हिन्दू देवी देवताओं का अपमान करने का साक्ष्य है और न ही केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने का कोई रिकॉर्ड है। मुनव्वर फारूकी के वकील अरशद वारसी ने भी मीडिया से कहा है कि उनके मुवक्किल के विरुद्ध देवी देवताओं का अपमान करने का कोई साक्ष्य नहीं मिला है और वे ज़मानत के लिए याचिका दायर करने जा रहे हैं।

इंदौर पुलिस ने बीजेपी विधायक मालिनी लक्ष्मी सिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ के कहने पर मुनव्वर फारूकी के साथ ही चार अन्य हास्य कलाकारों को भी शुक्रवार को गिरफ्तार किया था। बीजेपी विधायक के बेटे ने मुनव्वर फारूकी पर अपने एक शो के दौरान हिन्दू देवी देवताओं का अपमान करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने सभी हास्य कलाकारों के खिलाफ आईपीसी की धारा 34, 188, 269, 298, 295-A के तहत मुकदमा दर्ज किया है। 

दूसरे हास्य कलाकार भी उतरे समर्थन में 

सोशल मीडिया पर कई और हास्य कलाकारों ने मुनव्वर फारूकी का समर्थन किया है। इनमें वरुण ग्रोवर, वीर दास, रोहन जोशी, अग्रिमा जोशुआ जैसे मशहूर हास्य कलाकार शामिल हैं। इसके साथ ही फारूकी के शो में दर्शक के तौर पर मौजूद लोगों ने भी सोशल मीडिया पर लिखा है कि फारूकी पर लगाए जा रहे आरोप पूरी तरह बेबुनियाद हैं।

फारूकी के शो की एक दर्शक जेनोशा अग्नेस ने सोशल मीडिया पर लिखा कि जैसे ही मुनव्वर स्टेज पर आए, राजनीति से जुड़े कुछ लोग स्टेज पर चढ़ गए और उनका माइक छीन लिया। वो फारूकी से कहने लगे कि तूने हमारे देवताओं का अपमान किया, गोधरा कांड पर मज़ाक किया, इस्लाम पर जोक क्यों नहीं करता है? अग्नेस ने बताया कि मुनव्वर ने विनम्रतापूर्वक उनके आरोपों को खारिज किया और कहा कि किसी को ठेस पहुंचाने का उनका कोई इरादा नहीं है। इसके बावजूद कुछ ही मिनट में एक भीड़ कैफे के अंदर घुस गई और फारूकी के साथ-साथ कुछ अन्य लोगों को पकड़ कर ले गई।

क्या है मामला 

दरअसल इंदौर के 56 दुकान इलाके के एक कैफे में शुक्रवार को एक शो आयोजित किया गया था। जिसमें स्टैंड अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी भी मौजूद थे। इसी शो के दौरान विधायक के बेटे ने मुनव्वर फारूकी पर हिन्दू देवी देवताओं के कथित अपमान और अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगा दिया। विधायक के बेटे के कहने पर पुलिस ने शो को रुकवा दिया और शो में शामिल पांच हास्य कलाकारों और आयोजकों को पकड़कर थाने ले गई। विधायक का बेटा एकलव्य सिंह हिंद रक्षक नाम के किसी स्थानीय संगठन का संयोजक भी है।