शहीद जननायक टंट्या भील के बलिदान दिवस पर राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि, कमलनाथ भी रहे मौजूद

आज महान भील आदिवासी जननायक टंट्या भील का बलिदान दिवस है, भारत जोड़ो यात्रा के दोपहर पड़ाव के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पीसीसी चीफ कमलनाथ ने पुष्प अर्पित कर उन्हे श्रद्धांजलि दी एवं नमन किया।

Updated: Dec 04, 2022, 02:53 PM IST

शहीद जननायक टंट्या भील के बलिदान दिवस पर राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि, कमलनाथ भी रहे मौजूद

आगर। मध्य प्रदेश में 4 दिसंबर को बलिदान दिवस के रूप में जननायक टंट्या मामा की पुण्यतिथि मनाई जाती है। आज के दिन ही अमर शहीद टंट्या को जबलपुर की केंद्रीय जेल में फांसी दी गई थी। टंट्या मामा के बलिदान दिवस के मौके पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

भारत जोड़ो यात्रा के दोपहर पड़ाव के दौरान आगर जिले में कैंप साइट के पास राहुल गांधी ने टंट्या मामा की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस दौरान पीसीसी चीफ कमलनाथ समेत कांग्रेस के तमाम सीनियर नेता मौजूद रहे। 

कमलनाथ ने एक ट्वीट में लिखा है कि, 'महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, आदिवासी गौरव के प्रतीक और करोड़ों भारतीयों के प्रेरणास्रोत टंट्या मामा को उनके बलिदान दिवस पर विनम्र श्रद्धांजलि। उनका बलिदान हमें सदा ही देश रक्षा के लिए सर्वस्व न्योछावर करने की प्रेरणा देता रहेगा।'

शहीद जननायक टंट्या मामा के बलिदान दिवस पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने एक ट्वीट में लिखा कि, 'महान स्वतंत्रता सेनानी, आदिवासी जननायक एवं वीर योद्धा टंट्या भील (टंट्या मामा) जी के बलिदान दिवस पर शत् शत् नमन। जननायक टंट्या मामा अंग्रेजी दमन को ध्वस्त करने वाली ज़िद एवं संघर्ष की मिसाल हैं, आदिवासियों के लिए उनके द्वारा किए गए कार्य अतुलनीय हैं।'

बता दें कि मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा के दूसरे दिन राहुल गांधी टंट्या भील की जन्मस्थली भी पहुंचे थे। यहां उन्होंने बीजेपी-आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा था कि, “वे आज टंट्या मामा की बात करते हैं। लेकिन टंट्या मामा को अंग्रेजों ने फांसी पर चढ़ाया और आरएसएस ने उन्हीं अंग्रेजों की मदद की, ये पूरी दुनिया जानती है।"