रिटायर्ड वायुसेना अधिकारी की हत्या के मामले में 6 आरोपी गिरफ्तार

मध्य प्रदेश में छिंदवाड़ा के पास बीते 27 दिसंबर को रिटायर्ड वायुसेना अधिकारी की कार आधी जली हुई मिली थी, जिसमें अधिकारी का शव भी था

Updated: Jan 15, 2021, 10:43 AM IST

रिटायर्ड वायुसेना अधिकारी की हत्या के मामले में 6 आरोपी गिरफ्तार
Photo Courtesy: Zee News

भोपाल। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में रिटायर्ड वायुसेना अधिकारी राजेश साहू की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने हत्या के इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक सभी आरोपियों ने उसकी पूछताछ के दौरान जुर्म कबूल कर लिया है। पूर्व वायुसेना अधिकारी के हत्यारों ने बताया है कि उनका राजेश साहू के साथ पांच करोड़ रुपए का विवाद चल रहा था। इसी विवाद की वजह से उन्होंने हत्या को अंजाम दिया।  

दरअसल बीते 27 दिसंबर को छिंदवाड़ा के पास झिरपा और रेनिखेडा के बीच एक आधी जली हुई कार में वायुसेना अधिकारी राजेश साहू का शव मिला था। पुलिस ने जब इस पूरे मामले की तहकीकात की, तब कुल 6 आरोपियों के नाम सामने आए। जिसमें प्रॉपर्टी डीलर नरेश गुर्जर, अशोक अग्रवाल सहित 6 लोग शामिल हैं। 

छिंदवाड़ा एसपी विवेक अग्रवाल ने बताया है कि नरेश गुर्जर और अशोक अग्रवाल ने अपने चार अन्य साथियों के साथ पूर्व वायुसेना अधिकारी राजेश साहू को पहले ड्रग्स का इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर दिया। इसके बाद आरोपियों ने अधिकारी को कार में बैठाकर कार को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने धारा 302 के अंतर्गत इन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक सभी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल लिया है।

पूर्व वायुसेना अधिकारी भोपाल के रहने वाले थे। 53 वर्षीय राजेश साहू 26 दिसंबर को छिंदवाड़ा शहर में रहने वाले अपने माता पिता से मिलने जा रहे थे। इसी दौरान उनकी हत्या कर दी गई। आरोपी नरेश गुर्जर का कहना है कि अधिकारी और उसके बीच करीबन पांच करोड़ रुपए विवाद चल रहा था। अधिकारी की तरफ से बार बार नरेश गुर्जर से पांच करोड़ रुपए के भुगतान का दबाव बनाया जा रहा था। भोपाल निवासी नरेश गुर्जर ने पुलिस को बताया है कि इसके बाद उसने अशोक अग्रवाल के साथ मिलकर अधिकारी की हत्या करने की योजना बनाई थी। छिंदवाड़ा जाते समय दोनों ने अधिकारी से उन्हें भी छिंदवाड़ा साथ ले चलने की गुजारिश की थी। रास्ते में ही दोनों ने जबरन अधिकारी के शरीर में ड्रग्स वाला इंजेक्शन लगा दिया। इसके बाद कार को आग के हवाले कर अधिकारी की जान ले ली।