सिंधिया ने ऊर्जा मंत्री तोमर को पहनाई चप्पल, कांग्रेस का तंज- आप क्यों परेशान हुए, जनता तैयार थी

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को आज चप्पल पहनाई, उन्होंने 65 दिन पहले चप्पल त्याग दिया था।

Updated: Dec 25, 2022, 05:28 PM IST

सिंधिया ने ऊर्जा मंत्री तोमर को पहनाई चप्पल, कांग्रेस का तंज- आप क्यों परेशान हुए, जनता तैयार थी

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने 65 दिन बाद आज आखिरकार चप्पलें पहन ली। केंद्रीय उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें अपने हाथों से चप्पल पहनाई। घटना का वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस ने सिंधिया पर तंज कसा है। कांग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा ने कहा कि आप क्यों परेशान हुए महाराज भाईसाहब? 10 महीने बाद जनता तैयार थी।

सिंधिया रविवार को भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जंयती पर होने वाले आयोजन में शामिल होने ग्वालियर आए हैं। यहां सिंधिया ने मंत्री तोमर के लिए बाजार से नई चप्पल मंगाई थी। और कार्यक्रम के दौरान ही अपने हाथों से पहनाई। इस दौरान सिंधिया ने मंत्री से कहा कि अब तो बन गई सड़कें और आपका संकल्प भी पूरा हो गया। सिंधिया के इतना कहते ही मंत्री तोमर ने चप्पल पहन ली। 65 दिन तक वह बिना चप्पल और जूतों के रहे थे।

दरअसल, ऊर्जा मंत्री तोमर ने संकल्प लिया था कि जब तक इन सड़कों का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो जाता तब तक वे जूता चप्पल नहीं पहनेंगे। हालांकि, अब भी निर्माण कार्य पूरा नहीं हुआ है, लेकिन कार्य प्रगति पर है। सिंधिया के कहने पर मंत्री तोमर मना नहीं कर पाए। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पहली बार सार्वजनिक रूप से अपने हाथों से किसी को चप्पल पहनाई है। ऐसे में ग्वालियर के लोग सिंधिया को चप्पल पहनाते देख आश्चर्यचकित रह गए। 

बहरहाल, इस पूरे मामले पर युवा कांग्रेस ने सिंधिया को निशाने पर लिया है। युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कहा कि, 'यह पहली बार नहीं है जब सिंधिया घराने के लोग किसी को चप्पल पहना रहे हों। सिंधिया खानदान के लोगों को इसकी आदत रही है। वे अंग्रेजों की चाकरी करते थे। अंग्रेजों को चप्पल जूते सिंधिया घराने के महाराज पहनाते थे। उनका काम ही था अपनी आवाम को टोपी पहनना और अंग्रेजों के जूते बांधना। सत्ता हाथ से फिसलता देख ज्योतिरादित्य एक बार फिर से ये सब कर रहे हैं। लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। जनता इन गद्दारों को जरूर सबक सिखाएगी।'