शराब बंद कराने से बंद हो जाती तो समय नहीं लगाते: सीएम शिवराज ने इशारों में दिया उमा भारती को जवाब

बीजेपी की दिग्गज नेत्री उमा भारती लगातार उठा रही है शराबबंदी की मांग, सीएम चौहान ने स्पष्ट की अपनी मंशा, बोले- ऐसा नहीं है कि शराबबंदी करने से बंद हो जाएगी

Updated: Apr 03, 2022, 05:33 PM IST

शराब बंद कराने से बंद हो जाती तो समय नहीं लगाते: सीएम शिवराज ने इशारों में दिया उमा भारती को जवाब

भोपाल। उज्जैन में गौरव दिवस मनाने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शराबबंदी को लेकर बड़ा बयान दिया है। सीएम ने स्पष्ट कर दिया है की प्रदेश में शराबबंदी कानून लागू नहीं होगी। उन्होंने तर्क दिया है कि शराबबंदी लागू करने से यदि सच में शराब बंद हो जाती तो अबतक उन्होंने इसे लागू कर दिया होता।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि, 'मेरा बस चले और यह विश्वास हो जाए कि केवल दारू बंद करने से बंद हो जाएगी तो मैं एक दिन भी नहीं लगाता। लेकिन, ऐसा होता नहीं है। इसीलिए पहले नशा-मुक्त समाज बनाएंगे। लोग नशा छोड़ेंगे, तो अपने आप दुकानें बंद हो जाएंगी। आप चिंता मत करो।' सीएम चौहान का यह बयान इशारों में उमा भारती को जवाब के तौर पर देखा जा रहा है। 

दरअसल, शराबबंदी की मांग को लेकर बीजेपी की फायर ब्रांड नेता और प्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती इन दिनों मुखर हैं। हाल ही में उन्होंने शराब की एक दुकान में पत्थर मारकर प्रतीकात्मक विरोध जताया था। वह लंबे समय से प्रदेश में शराबबंदी को लेकर पैरवी कर रही हैं। हालांकि सीएम शिवराज सिंह म बयान से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार इस तरह के फैसले के बारे में विचार करने तक के मूड में नहीं हैं।