कांग्रेस MLA के बंगले में छात्र ने लगाई फांसी, कैंसर अस्पताल में चल रहा था इलाज, मौके से सुसाइड नोट बरामद

कांग्रेस विधायक ओमकार सिंह मरकाम के बंगले में एमएससी के एक स्टूडेंट ने फांसी लगा ली। पुलिस ने बताया कि छात्र ने सुसाइड किया है। मौके से एक सुसाइड नोट मिली है जिसमें उसने बीमारी से परेशान होने का जिक्र किया है।

Publish: Dec 25, 2022, 07:33 PM IST

कांग्रेस MLA के बंगले में छात्र ने लगाई फांसी, कैंसर अस्पताल में चल रहा था इलाज, मौके से सुसाइड नोट बरामद

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस विधायक ओमकार सिंह मरकाम के बंगले में एक छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मरने के पहले उसने एक सुसाइड नोट भी लिखा है, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। सुसाइड नोट में उसने कैंसर की बीमारी का जिक्र किया है।

मृतक छात्र का नाम तीरथ सिंह बताया जा रहा है। वह पिछले 4 साल से श्यामलाहिल्स थाना क्षेत्र में स्थित कांग्रेस विधायक ओमकार मरकाम के बंगले पर रहकर पढ़ाई कर रहा था। अभी वह M.Sc में था।उसका शव फांसी के फंदे पर लगटका हुआ मिला। इसकी जानकारी लगते ही लोगों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया।

पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है, जिसमें उसने ATM का पासवर्ड और मोबाइल नंबर के साथ कैंसर की बीमारी का जिक्र किया है। पुलिस के मुताबिक छात्र ने सुसाइड नोट में लिखा है कि, 'मैं बीमारी से परेशान हो चुका हूं। मम्मी-पापा, दादा-दादी आपने मेरे लिए बहुत कुछ किया। दोस्तों ने भी बहुत साथ दिया। मेरा हमेशा हौसला बढ़ाया, लेकिन मैं बहुत परेशान हो चुका हूं। सुसाइड कर रहा हूं। कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करें। एटीएम, मोबाइल का यह पासवर्ड है। एफआईआर भी नहीं कराएं। मैं अपनी मर्जी से सुसाइड कर रहा हूं।'

विधायक ओमकार सिंह मरकाम ने बताया कि गांव और परिवार का होने की वजह से तीरथ सिंह को बंगले पर पढ़ाई करने के लिए रखा था। वह बीएससी पूरी करने के बाद एमएससी कर रहा था। प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कर रहा था। 2019 में तीरथ की तबियत खराब हुई, तो पता चला कि उसे कैंसर हो गया है। हमने इलाज शुरू करवा दिया। कीमो वगैरह के बाद 9 महीने पहले काफी हद तक ठीक हो गया था। लेकिन, फिर साइड इफेक्ट दिखने लगे थे। हमने उसे काफी समझाया था कि परेशान होने की जरूरत नहीं है।