भोपाल में बढ़ेगा सिटी बसों का किराया, BCLL ने परिवहन विभाग को भेजा प्रस्ताव, कांग्रेस ने कहा लूट बंद करे सरकार

भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड के किराए में 20 प्रतिशत का इजाफा करने की तैयारी, BCLL ने महंगे डीजल का दिया हवाला, कांग्रेस बोली इस लूट के बाद जनता के पास सड़कों पर उतरने के अलावा कोई रास्‍ता नहीं बचेगा

Updated: Jul 08, 2021, 05:49 PM IST

भोपाल में बढ़ेगा सिटी बसों का किराया, BCLL ने परिवहन विभाग को भेजा प्रस्ताव, कांग्रेस ने कहा लूट बंद करे सरकार
Photo Courtesy: bhopal city bus

भोपाल। भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (BCLL) के किराए में 20 फीसदी की बढ़ोतरी होने वाली है, इसके लिए क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी के पास प्रस्ताव भेजा गया है। अगर यह प्रस्ताव मंजूर हो जाता है तो अब यात्रियों का सफर महंगा हो जाएगा। इस बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने सिटी बसों के किराए की वृद्धि को लूट करार दिया है। उनका कहना है कि डीजल, पेट्रोल, गैस, खाने का तेल, बिजली और दूध के दाम पहले ही बढ़ चुके हैं। अगर सरकार द्वारा यह लूट बंद नहीं की गई तो जनता के पास सड़कों पर उतरने के अलावा कोई रास्‍ता नहीं बचेगा।

 

दरअसल बसों में सवारी मध्यवर्गीय परिवारों के लोग ज्यादा सफर करते हैं, बढ़ती महंगाई की मार पहले ही पड़ चुकी है, उस पर सिटी बस के किराए में वृद्धि से लोगों का घर चलाना दूभर हो जाएगा।

वहीं किराया बढ़ाने को लेकर (BCLL) ने महंगाई का हवाला दिया है, उसका कहना है कि सालभर में डीजल 17 रुपए प्रति लीटर तक महंगा हो गया है। जिसकी वजह से कंपनी को नुकसान उठाना पड़ रहा है। पिछले साल जुलाई में डीजल 81 प्रति लीटर था, जबकि अब 98 रुपए से ज्यादा में मिल रहा है।

भोपाल के विभिन्न इलाकों में करीब 23 रूट हैं, जिनपर लगभग 250 बसें चलाई जाती हैं। कोरोना काल में बसों का संचालन रोक दिया गया था। यात्रियों की कमी और महंगाई की मार की वजह से किराया बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए सिटी बसों के किराए में 20% किराया बढ़ाने का प्रस्ताव को भेज दिया गया है, अगर इस प्रस्ताव को परिवहन विभाग की मंजूरी मिल जाती है तो जल्द ही इसे लागू कर दिया जाएगा।

और पढ़ें: अपनी मांगें मनवाने के लिए बस आपरेटर्स का प्रदर्शन, छत्तीसगढ़ में निकली बसों की बारात

छत्तीसगढ़ में भी किराया बढ़ाने की मांग की जा रही है, रायपुर समेत छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में बस संचालकों ने बस की बारात निकाल कर प्रदर्शन किया। तीन साल से किराया नहीं बढ़ान का तर्क देकर बसों का किराया 40 फीसदी बढ़ाने की मांग की जा रही है, अगर मांग नहीं मानी जाती तो 13 जुलाई से हड़ताल और 14 को जल समाधी लेने की धमकी बस संचालकों ने दी है।