सुल्ली डील्स के बाद अब बुल्ली बाई, मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने की घिनौनी साजिश

बुल्ली बाई ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की आपत्तिजनक तस्वीरें डालकर की जा रही थी अभद्र टिप्पणी, महिला पत्रकार ने दिल्ली में शिकायत दर्ज की, शिवसेना सांसद ने उठाई जांच की मांग

Updated: Jan 02, 2022, 12:49 PM IST

सुल्ली डील्स के बाद अब बुल्ली बाई, मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने की घिनौनी साजिश

नई दिल्ली। बुल्ली बाई ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें डालने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सोशल मीडिया पर सुल्ली डील्स और बुल्ली बाई जैसे प्लेटफॉर्म्स को लेकर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। इसी बीच केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया है कि ऐप के क्रियेटर को ब्लॉक कर दिया गया है।

दरअसल, 'बुल्ली बाई' नामक ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों से छेड़छाड़ कर पोस्ट किया गया था। इस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं को लेकर अभद्र टिप्पणी की जा रही हैं। इतना ही नहीं आरोप है कि इन तस्वीरों की नीलामी हो रही थी। इस घिनौनी हरकत का उद्देश्य मुस्लिम महिलाओं नीचा दिखाना, अपमानित करना और परेशान करना था। 

यह भी पढ़ें: साल के पहले ही दिन कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को किया गया नजरबंद

ऐप बुल्ली बाई ठीक उसी तरह काम करता है जैसे सुल्ली डील्स था। एक बार जब आप इसे ओपन करते हैं, तो आपको बेतरतीब ढंग से एक मुस्लिम महिला के चेहरे को ‘बुल्ली बाई ऑफ द डे’ के रूप में दिखाया जाता है। एप को गिटहब पर बनाया गया था। गिट हब एक होस्टिंग प्लेटफॉर्म है, जहां ओपन सोर्स कोड का भंडार रहता है। लेकिन अब गिटहब पर बनाए जा ऐसे घिनौने एप्स को लेकर लोगों में जबरदस्त आक्रोश है।

मामला तब तूल पकड़ा जब एक मुस्लिम महिला पत्रकार की इसपर आपत्तिजनक कंटेंट के साथ तस्वीरें डाली गई। महिला पत्रकार ने शनिवार को अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ दक्षिणी दिल्ली के सीआर पार्क थाने में ऑनलाइन शिकायत की जिसकी प्रति उसने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा भी की। महिला ने आरोप लगाया कि मुस्लिम महिलाओं को शर्मिंदा करने और उनका अपमान करने के इरादे से उनकी ऐसी तस्वीर एक वेबसाइट पर डाली गई।

महिला पत्रकार ने लिखा की, 'कितने दुख की बात है कि एक मुस्लिम महिला होने के नाते हमें अपना नया साल भी एक डर के साथ शुरू करना पड़ रहा है।' मामले में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी मुंबई पुलिस से शिकायत की है। प्रियंका चतुर्वेदी ने एक ट्वीट में लिखा कि, 'मुंबई पुलिस आयुक्त रश्मि करांदिकर जी से बात की है। वे इसकी जांच करेंगे। महाराष्ट्र के डीजीपी से भी हस्तक्षेप करने के लिए बात की है। उम्मीद है कि इस तरह की गलत साइट के पीछे जो लोग हैं उन्हें पकड़ा जाएगा।'

शिवसेना नेता ने आगे लिखा कि, 'सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री माननीय अश्विनी वैष्णव से भी उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया जो सुल्लीडील्स जैसे प्लेटफार्म के जरिए महिलाओं को निशाना बना रहे हैं। शर्म की बात है कि इसे नजरअंदाज किया जा रहा है।' मामले में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, 'GitHub ने आज सुबह इसके यूजर को ब्लॉक करने की पुष्टि की है। CERT और पुलिस प्रशासन आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।' बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस और मुंबई पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट्स ने इस मामले को लेकर जांच शुरू कर दी है।