रामदेव ने मारी पलटी, खुद भी कोरोना वैक्सीन लेंगे, डॉक्टरों को बताया भगवान का दूत

कोरोना वैक्सीन को लेकर दो हफ्ते में ही रामदेव ने किया शीर्षासन, एलोपैथी के खिलाफ झंडा उठाने वाले रामदेव खुद लेने वाले हैं वैक्सीन, टीका लेने के पहले डॉक्टर्स को बताया देवदूत

Updated: Jun 10, 2021, 02:40 PM IST

रामदेव ने मारी पलटी, खुद भी कोरोना वैक्सीन लेंगे, डॉक्टरों को बताया भगवान का दूत
Photo courtesy: DNA India

हरिद्वार। कोरोना वैक्सीन को लेकर पतंजलि के संस्थापक रामदेव ने पलटी मार ली है। अबतक कोरोना वैक्सीन और एलोपैथी के खिलाफ झंडा उठाने वाले रामदेव ने कहा है कि वे भी टीका लेंगे। इतना ही नहीं डॉक्टरों के प्रति उनके विचार ने भी शीर्षासन कर लिया है। वैक्सीन लेने से पहले अब रामदेव डॉक्टरों को भगवान के भेजे हुए दूत बता रहे हैं।

रामदेव ने कहा कि मैं भी जल्द ही वैक्सीन का पहला डोज लगवाउंगा। मैं लोगों से भी अपील करता हूं कि वे बेहिचक कोरोना वैक्सीन लगवाएं। योग और आयुर्वेद के साथ ही टीका लेना भी जरूरी है। रामदेव ने केंद्र की ओर से देश के सभी लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगाए जाने का ऐलान की भी तारीफ की। इसके पहले रामदेव ने वैक्सीन को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि टीका लेने के बावजूद हजारों डॉक्टर मर गए हैं।

यह भी पढ़ें: भोपाल से सटे गांवों का फैसला, वैक्सीन नहीं लगवाई तो किया जाएगा लोगों का बहिष्कार

एलोपैथी और डॉक्टरों को लेकर रामदेव ने कहा कि, 'मेरी किसी संगठन के साथ निजी दुश्मनी नहीं है। मैं मानता हूं कि सभी अच्छे डॉक्टर इस धरती पर भगवान द्वारा भेजे गए दूत हैं। वह इस धरती के लिए एक उपहार हैं। हमारी लड़ाई देश के डॉक्टरों से नहीं है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि एलोपैथी आपातकालीन मामलों और सर्जरी के लिए बेहतर है।हम चाहते हैं कि दवाओं के नाम पर किसी को परेशान न किया जाए।'