बेंगलुरु बेड घोटाले में नया मोड़, तेजस्वी सूर्या व सतीश रेड्डी का सहयोगी ही करता था कालाबाजारी

बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या के साथ मिलकर मुस्लिम कर्मचारियों पर आरोप लगाने वाला बाबू नाम का व्यक्ति बिस्तर कालाबाजारी मामले में गिरफ्तार

Updated: May 27, 2021, 04:09 PM IST

बेंगलुरु बेड घोटाले में नया मोड़, तेजस्वी सूर्या व सतीश रेड्डी का सहयोगी ही करता था कालाबाजारी
Photo Courtesy: The Wire

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के बिस्तर घोटाले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मुस्लिम कर्मचारियों पर कालाबाजारी करने का आरोप लगाने वाले बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या व बीजेपी विधायक सतीश रेड्डी का सहयोगी ही इस घोटाले का मास्टरमाइंड पाया गया है। बेंगलुरु पुलिस ने इस मामले में रेड्डी के सबसे करीबी माने जाने वाले बाबू नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। हैरानी की बात यह है कि बाबू उस वक़्त भी तेजस्वी सूर्या के साथ मौजूद था जब वे मुस्लिम कर्मचारियों पर बेड्स ब्लॉक करने का आरोप लगा रहे थे।

बेंगलुरु पुलिस ने बताया कि बाबू को बीते सोमवार गिरफ्तार किया गया था। इस मामले के एक अन्य आरोपी रोहित को पुलिस पहले ही हिरासत में ले चुकी है। पुलिस ने बताया कि बाबू हॉस्पिटल में बेड्स को ब्लॉक कर उसे ऊंचे दामों में बेचता था। इस रैकेट में उसके साथ अन्य सोशल एक्टिविस्ट भी संलिप्त थे। बाबू का काम बेड्स की व्यवस्था करना होता था वहीं अन्य आरोपी रोहित और नेत्रावती अपने वॉट्सऐप नेटवर्क से मरीजों तक पहुंचता था।

यह भी पढ़ें: GST काउंसिल की बैठक से पहले लामबंद हुए सात राज्य, जीएसटी क्षतिपूर्ति राशि जारी करने की मांग

मरीजों को जरूरत के हिसाब से बेड दिलवाने के लिए महंगे डील होते थे, इसके बाद उनसे पैसे लेकर हॉस्पिटल में एडमिट करवाया जाता था। पुलिस का दावा है कि बाबू आर्थिक हालातों और मजबूरियों के आधार पर मरीजों से रकम वसूलता था। नेत्रावती और रोहित को वह हर मरीज पर कुछ कमीशन देता था जबकि बड़ा हिस्सा अपने पास रखता था।

इससे पहले 4 मई को बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या और बीजेपी विधायक सतीश रेड्डी अपने साथियों के साथ राजधानी स्थित कोविड-19 कंट्रोल रूम पहुंचे थे। यहां तेजस्वी सूर्या ने कंट्रोल रूम में कार्यरत मुस्लिम कर्मचारियों को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया था। इतना ही नहीं सूर्या ने आरोप लगाया था कि यही लोग बेड्स को ब्लॉक कर महंगे दामों में बेच रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि इस दौरान भी कालाबाजारी करने वाला असल अपराधी बाबू तेजस्वी सूर्या और रेड्डी के साथ आया था। 

इस पूरे मामले के भंडाफोड़ होने के बाद कांग्रेस नेता श्रीवत्स ने कहा है कि तेजस्वी सूर्या की साजिश बेनकाब हो गई है। श्रीवत्स ने पूछा है कि क्या बीजेपी सांसद अब सामने आकर इस गिरफ्तारी के बारे में बताएंगे? बता दें कि कांग्रेस नेताओं ने पहले भी दावा किया था कि बेड्स को ब्लॉक कर उन्हें बेचने में तेजस्वी सूर्या का हाथ है।