नागालैंड में सुरक्षाबलों की फायरिंग में आम लोगों की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने जलाईं गाड़ियां

यह घटना नागालैंड के मोन ज़िले के ओटिंग इलाके में हुई है, बीती रात सुरक्षाबलों ने उग्रवादी होने की शंका में आम नागरिकों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, इस फायरिंग में 14 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है, जिनमें तेरह आम नागरिक हैं जबकि एक जवान की भी मौत हुई है

Updated: Dec 05, 2021, 12:59 PM IST

नागालैंड में सुरक्षाबलों की फायरिंग में आम लोगों की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने जलाईं गाड़ियां
Photo Courtesy: Aaj Tak

नई दिल्ली। नागालैंड में भयावह हिंसा फैल गई है। सुरक्षाबलों की फायरिंग में नागालैंड के आम नागरिक मारे गए हैं। जिसके बाद ग्रामीणों और सुरक्षा बलों में टकराव शुरू हो गया है। ग्रामीणों ने सुरक्षा बलों की गाड़ियों में आग लगा दी है। 

मीडिया रिपोर्ट्स में अब तक 14 लोगों की मृत्यु की पुष्टि हुई है। मृतक लोगों में तरह आम नागरिक हैं जबकि एक मृतक सुरक्षाबल का जवान है। नागालैंड के सीएम नेफियो रियो ने मामले की जांच एसआईटी को सौंपते हुए लोगों से शांति की अपील की है। सीएम ने न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने पीड़ा व्यक्त की है। गृह मंत्री ने भी पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार शाम को सुरक्षाबलों ने मोन ज़िले के तिरु गांव में उग्रवादी होने के संदेह में आम नागरिकों पर अचानक फायरिंग शुरू कर दी। सभी लोग पिक अप वाहन पर सवार हो कर अपने गांव लौट रहे थे। काफी देर होने के बाद जब यह लोग अपने गांव नहीं पहुंचे, तब गांव के लोग इनकी तलाश में निकल पड़े। 

रास्ते में ग्रामीणों को इन लोगों के शव पड़े हुए मिले। जिसके बाद ग्रामीणों के बीच आक्रोश बढ़ गया। जल्द ही पूरे क्षेत्र में तनाव फैल गया और ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों को फूंक दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मारे गए लोगों की संख्या अभी और बढ़ सकती है।