दिल्ली एम्स के तीनों यूनियनों ने अपनी मांगें पूरी नहीं किये जाने पर 25 अक्टूबर से हड़ताल पर जाने की दी धमकी 

नर्स यूनियन, कर्मचारी यूनियन और ऑफिसर्स एसोसिएशन के प्रमुखों की ओर से एम्स प्रशासन को लिखित रूप में दिए गए नोटिस में कहा गया है कि अधिकारियों के साथ उनकी अब तक कई बैठकें हो चुकी हैं पर सभी बैठकें बेनतीजा रही हैं 

Publish: Sep 04, 2021, 09:04 AM IST

दिल्ली एम्स के तीनों यूनियनों ने अपनी मांगें पूरी नहीं किये जाने पर 25 अक्टूबर से हड़ताल पर जाने की दी धमकी 

नई दिल्ली 
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान,एम्स दिल्ली के तीनों कर्मचारी संगठनों ने एम्स प्रशासन को लिखित रूप में एक नोटिस भेजा है। इस नोटिस में संगठनों की ओर से कहा गया है कि अगर उनकी 47 सूत्रीय मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो सभी संगठन 25 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायंगे। नर्स यूनियन, कर्मचारी यूनियन और ऑफिसर्स एसोसिएशन के प्रमुखों ने अस्पताल प्रशासन को दिए अपने नोटिस में लिखा है कि अधिकारियों के साथ उनकी कई बैठकें हो चुकी हैं लेकिन इन बैठकों का कोई नतीजा नहीं निकला है। 

संगठनों की ओर से पेश की गई लगभग सभी मांगें नियुक्ति, वेतन और पेंशन के मामलों को लेकर हैं। संगठन ने जो ज्ञापन दिया है उसमें लिखा है कि पिछले 30 सालों में एम्स में कैडर की समीक्षा नहीं हुई है। जबकि नियमानुसार प्रत्येक 5 साल में कैडर की समीक्षा होनी चाहिए। इन संगठनों की एक प्रमुख मांग है कि कैडर की समीक्षा के लिए तुरंत एक समिति का गठन किया जाए। 

संगठन की ओर से पेश की गई अन्य मांगों में नर्सों के वेतन को वेतन आयोग के आर 1 एच 1 मैट्रिक्स के तहत रखने की मांग की गई है। नर्सिंग अधिकारियों की भर्ती में लिंग आधार पर किये जा रहे आरक्षण को समाप्त करने और विभिन्न केंद्रों पर नर्सिंग स्टाफ की कमी को दूर करने की मांग की गई है।  संगठनों ने राष्ट्रीय पेंशन योजना में  एम्स के योगदान को 10 फीसदी से बढ़कर 14 फीसदी करने की भी मांग की है।
 
तीनों यूनियनों ने संयुक्त रूप से कहा है कि अपनी मांगों को लेकर वे लम्बे समय से संघर्ष कर रहे हैं। हर बैठक में एम्स प्रशासन उन्हें मांगों को पूरा करने का भरोसा देता है पर उनकी मांगें पूरी नहीं होती। अगर 25 अक्टूबर तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती हैं तो तीनों संगठनों से जुड़े लोग अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे।