उदित राज ने विराट कोहली का बचाव किया, पर लोगों ने लगा दिया अपमान का आरोप

कांग्रेस नेता उदित राज ने विराट कोहली का अपमान करने वालों को फटकार लगाई, लेकिन ट्रोल आर्मी ने उल्टे उन्हीं पर लगा दिया भारतीय कप्तान के अपमान का आरोप

Updated: Nov 15, 2020, 07:59 PM IST

उदित राज ने विराट कोहली का बचाव किया, पर लोगों ने लगा दिया अपमान का आरोप
Photo Courtesy: Telugu.mykhel.com

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के बचाव में उतरना कांग्रेस नेता उदित राज को उल्टा पड़ गया। उदित राज ने विराट कोहली को सोशल मीडिया पर कुत्ता कहने वाले ट्रोल्स की जमकर क्लास लगाई। लेकिन ट्विटर पर ट्रोल्स ने उल्टा कांग्रेस नेता पर ही आरोप मढ़ दिया कि उन्होंने विराट कोहली को कुत्ता कहा है। हैरानी भरी बात यह है कि कुछ प्रमुख न्यूज़ पोर्टल भी उदित राज के ट्वीट को संदर्भ से काटकर गलत ढंग से पेश कर रहे हैं।  

क्या है मामला

दरअसल विराट कोहली ने दीपावली के अवसर पर अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया। इसमें कोहली ने अपने प्रशंसकों से बढ़ते प्रदूषण के मद्देनज़र  त्योहार पर पटाखे न जलाने की अपील की। विराट कोहली ने अपने सन्देश में कहा, "मेरी ओर से आपको और आपके परिवार को दिवाली की शुभकामनाएं। इस दिवाली पर आपको शांति, संपन्नता और खुशियां मिलें। प्लीज इस बार पटाखे ना जलाएं और पर्यावरण की रक्षा करें और अपने प्रियजनों के साथ साधारण दीया जलाएं और मिठाइयों के साथ यह त्योहार मनाएं।"

इतनी समझदारी भरी सलाह देने पर विराट कोहली की तारीफ होनी चाहिए, लेकिन कुछ ट्रोल्स ने इसे लेकर विराट कोहली पर हमला शुरू कर दिया। विराट कोहली से पूछा जाने लगा कि उन्होंने आईपीएल में हुई आतिशबाजियों पर रोक लगाने की मांग क्यों नहीं की।

विराट कोहली के बचाव में उतरे उदित राज

कुछ टोल्स की वजह से ट्विटर पर 'अनुष्का शर्मा अपना कुत्ता संभालो' का हैशटैग ट्रेंड करने लगा। ट्विटर के इसी ट्रेंड को लेकर कांग्रेस नेता उदित राज ने ट्रोल्स को फटकार लगाई। उन्होंने ट्रोल्स को जवाब देते हुए लिखा, "अनुष्का को अपने कुत्ते विराट कोहली को सम्भालने की ज़रूरत नही है। कुत्ता से ज़्यादा वफ़ादार कोई नही। कोहली ने तुम लुच्चे ,लफ़ंगों और मूर्खों को सीख दी थी कि प्रदूषण से मानवता ख़तरे में हैं। तुम लोगों का डीएनए चेक कराना पड़ेगा कि तुम यहाँ के मूल निवासी हो कि नहीं?" उदित राज के इसी ट्वीट को संदर्भ से काटकर कुछ लोगों ने जानबूझकर या अनजाने में उसका उल्टा मतलब निकाला और अर्थ का अनर्थ करते हुए उदित राज पर टूट पड़े। इन लोगों ने ये आरोप लगा दिया कि उदित राज ने कोहली को कुत्ता कहा है, जबकि उदित राज ने तो ट्विटर पर ट्रेंड कराए जा रहे हैशटैग का इस्तेमाल विराट के विरोधियों को जवाब देने के लिए किया था।

नतीजा यह हुआ कि जो उदित राज विराट कोहली का बचाव कर रहे थे, उन पर विराट के कथित प्रशंसकों ने ही हमला शुरू कर दिया। उन्होंने ट्विटर पर शोर मचाना शुरू कर दिया कि उदित राज ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के लिए अभद्र भाषा का उपयोग किया है। हालांकि उदित राज ने अपने अगले ट्वीट में यह बात और भी साफ तरीके से बताई है कि वे तो दरअसल कोहली का समर्थन कर रहे हैं।

उदित राज ने अपने अगले ट्वीट में लिखा,  "विराट कोहली के सुझाव का स्वागत, लेकिन कुछ दुष्टों ने ट्विटर पर भद्दी गालियाँ देना शुरू कर दी। हैरान हूँ कि सरकार ये सब देख रही है जैसे कि मौन सहमति हो। इनके ख़िलाफ़ कार्रवाई अभी तक नही हुई। ये इंसान नहीं हो सकते। कुत्ते को भी बुरा कह रहे हैं। कुत्ते से ज़्यादा वफ़ादार कोई नही।"

 

 

 हैरानी की बात है कि न सिर्फ ट्रोल्स अब तक उदित राज के ट्वीट का गलत अर्थ निकालकर उन्हें निशाना बना रहे हैं, बल्कि बहुत सारे मीडिया पोर्टल्स में भी इस मसले को संदर्भ से काटकर उल्टे अर्थों में ही पेश किया जा रहा है। 

प्रदूषण मुक्त दिवाली के मसले पर तनिष्क को भी निशाना बनाया जा चुका है

आपको याद दिला दें कि जिस तरह प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाने की विराट कोहली की अपील पर उन्हें निशाना बनाया जाने लगा, वैसे ही टाटा समूह की कंपनी तनिष्क को भी हाल ही में निशाना बनाया जा चुका है। तनिष्क के एक विज्ञापन में भी लोगों से बड़े विनम्र और अप्रत्यक्ष तरीके से अपील की गई थी कि वे दीयों, पूजा-पाठ,  नए कपड़ों, गहनों और मिठाइयों के साथ दीपावली का भरपूर आनंद लें लेकिन बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए पटाखे न जलाएं। कुछ लोगों ने इस पर इतना बवाल मचाया कि तनिष्क को अपना विज्ञापन वापस लेना पड़ा।