हर दिन 600 से ज़्यादा भारतीय छोड़ रहे हैं देश, कांग्रेस ने उठाया अच्छे दिन के वादे पर सवाल

2014 मे रोजाना औसतन 354 लोग भारत की नागरिकता छोड़ते थे वो संख्या अब 604 हो गई है, 2022 में जो लोग देश छोड़कर गए उनमें 7 हजार लोगों की आय आठ करोड़ रुपये से ज्यादा थी: प्रो गौरव वल्लभ

Updated: Jan 10, 2023, 07:02 PM IST

हर दिन 600 से ज़्यादा भारतीय छोड़ रहे हैं देश, कांग्रेस ने उठाया अच्छे दिन के वादे पर सवाल

नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए अच्छे दिन के वादे पर गंभीर सवाल उठाए। कांग्रेस प्रवक्ता प्रो गौरव वल्लभ ने कहा कि इस सरकार में भारतीय नागरिकों के लिए ‘अच्छे दिन' भारत में नहीं, बल्कि विदेश में आए हैं, इसलिए रोजाना 600 से अधिक लोग भारत की नागरिकता त्याग रहे हैं।

प्रोफेसर गौरव वल्लभ ने कहा, 'पीएम मोदी कल प्रवासी भारतीय सम्मेलन को संबोधित कर के आए हैं। देश में अमृतकाल चल रहा है। इस अमृतकाल में 604 भारतीय हर दिन देश छोड़ रहे हैं। भारतीयों के अच्छे दिन देश से बाहर आए हैं। आज रात 12 बजे तक 604 लोग देश छोड़कर चले जाएंगे।' कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि वर्ष 2014 मे रोजाना औसतन 354 लोग भारत की नागरिकता छोड़ते थे। लेकिन यह संख्या अब बढ़कर 604 हो गई है। 

उन्होंने कहा, ‘यह जानकर लोगों को हैरानी होगी कि जो लोग देश छोड़कर जा रहे हैं उनमें से ज्यादातर लोग उच्च आय श्रेणी वाले हैं। 2022 में जो लोग देश छोड़कर गए उनमें अधिकांश लोगों की आय करोड़ों में थी। 7 हजार लोग जो विदेशों में गए सालाना आय 8 करोड़ रुपये से ज्यादा थी। ये इनकम टैक्स रिटर्न का डाटा है। यानी भारत में कमाया हुआ पैसा भारत में निवेश नहीं हो रहा। ये विदेशों में जा रहा है।'

यह भी पढ़ें: करणी सेना के खिलाफ भीम आर्मी ने खोला मोर्चा, अब भोपाल के दशहरा मैदान में चंद्रशेखर रावण करेंगे शक्ति प्रदर्शन

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘लोगों के भारत की नागरिकता त्यागने के कई कारण हैं। मसलन, लगातार बढ़ती बेरोजगारी है, जीडीपी विकास दर लगातार कम है, दुनिया में सबसे ज्यादा गरीब लोग भारत में हैं, वैश्विक भूख सूचकांक में 121 देशों में हम 107वें स्थान पर हैं, वैश्विक स्त्री-पुरुष अंतर अनुपात में भारत की स्थिति बहुत खराब है औेर वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता की सूची में दुनिया में भारत का स्थान 150वां है।'

कांग्रेस प्रवक्ता ने सवाल किया, ‘प्रधानमंत्री जी, रोजाना 600 से अधिक लोग भारतीय नागरिकता क्यों छोड़ रहे हैं? भारत की नागरिकता छोड़ने वालों की संख्या आपके कार्यकाल में 1.7 गुना क्यों बढ़ी? भारत के लोगों के लिए भारत में अच्छे दिन क्यों नहीं आ रहे हैं?'