जम्मू में सात किलो विस्फोटक बरामद, पुलवामा हमले की बरसी पर बड़ी आतंकी साजिश नाकाम

जम्मू शहर में बस स्टैंड के पास बरामद हुआ विस्फोटक, पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी पर बड़ी वारदात को अंजाम देने की साज़िश रचे जाने की आशंका

Updated: Feb 14, 2021, 03:14 PM IST

जम्मू में सात किलो विस्फोटक बरामद, पुलवामा हमले की बरसी पर बड़ी आतंकी साजिश नाकाम
Photo Courtesy: India Today

जम्मू। पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी के दिन आज जम्मू में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किए गए। सूत्रों के मुताबिक जम्मू शहर में बस स्टैंड के पास सात किलो विस्फोटक बरामद किया गया है। जम्मू पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार भी किया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार किया गया शख्स कश्मीर घाटी का रहने वाला है, उसी की निशानदेही पर विस्फोटक बरामद किया गया है।

जम्मू शहर में बस स्टैंड के पास विस्फोटक बरामद होने के बाद सुरक्षाबलों ने जगह-जगह नाकेबंदी कर दी है। हालांकि बरामद विस्फोटक और उसकी मात्रा को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। सूत्रों के मुताबिक शनिवार देर रात यह विस्फोटक बरामद किया गया। पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर आतंकी बड़े हमले की फिराक में थे।

जम्मू में आतंकी गतिविधियां तेज होने से सुरक्षा एजेंसियां और सतर्क हो गई हैं। लश्कर-ए-मुस्तफा के आतंकी मलिक की गिरफ्तारी, सांबा में सुरंग और हथियारों के बरामद होने से पता चलता है कि जम्मू संभाग में आतंकी संगठनों की हरकतें बढ़ गई हैं।

सरहद के क़रीब होने की वजह से जम्मू संभाग का सांबा जिला आतंकियों की घुसपैठ और हथियार पहुंचाने के लिए आसान टारगेट बनता जा रहा है। इससे पहले हीरानगर के रसाना में ड्रोन से हथियार गिराए गए थे। हथियार उठाने वालों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद काजीगुंड में दो लोगों को एक ट्रक से पकड़कर उनके कब्जे से हथियार बरामद किए गए थे। 

पुलवामा के दिन भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद होने को पुलवामा की दूसरी बरसी पर किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने की साज़िश से जोड़कर देखा जा रा है। 14 फरवरी 2019 को कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे।