बिहार में प्रदर्शन का पांचवा दिन, 700 से अधिक युवा गिरफ्तार, BJP नेताओं को Y सिक्योरिटी, नई भर्तियों का डिटेल्स जारी

केंद्र सरकार के ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर पांचवें दिन भी हो रहा उग्र प्रदर्शन, शनिवार को बिहार बंद के दौरान भड़के युवाओं ने कई थानों को आग के हवाले किया था, स्थिति अब भी तनावपूर्ण, केंद्र सरकार ने बीजेपी के एक दर्जन नेताओं को दिया Y कैटेगरी की सुरक्षा

Updated: Jun 19, 2022, 10:59 AM IST

बिहार में प्रदर्शन का पांचवा दिन, 700 से अधिक युवा गिरफ्तार, BJP नेताओं को Y सिक्योरिटी, नई भर्तियों का डिटेल्स जारी

नई दिल्ली/पटना। केंद्र सरकार के ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर युवाओं का विरोध प्रदर्शन आज पांचवें दिन भी जारी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार के कई जिलों में स्थिति अब भी तनावपूर्ण है। इंटरनेट सेवाएं ठप होने के बावजूद भरी संख्या में छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। कल यानी शनिवार को भी बिहार बंद के दौरान युवाओं का उग्र प्रदर्शन देखने को मिला था। युवाओं ने कई पुलिस थानों को आग के हवाले कर दिया।

औरंगाबाद के गोह थाने में शनिवार को बमबारी और भारी गोलीबारी हुई। यहां युवा थाने में आग लगाने पर उतारू थे। इस दौरान पुलिस ने सैंकड़ों राउंड फायरिंग की। फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। विपक्षी दलों द्वारा इस योजना को वापस लेने के लिए डाले जा रहे दबाव और राज्यों में हिंसक प्रदर्शनों के बीच केंद्र ने नई सैन्य भर्ती योजना को लेकर चिंताओं और शिकायतों पर खुले मन से विचार करने की भी पेशकश की। हालांकि, केंद्र की कोशिशें नाकाम रहीं। बिहार-यूपी समेत देशभर में लगातार पांचवें दिन भी प्रदर्शन जारी रहा।

छात्रों का आक्रोश देखते हुए रेलवे ने शनिवार को 369 ट्रेनों को रद्द कर दिया था, जिससे यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। एक दिन पहले भी रेलवे को विरोध प्रदर्शनों के चलते 200 से अधिक ट्रेनों को रद्द करना पड़ा था। आज भी 300 के करीब ट्रेनें रद्द की गई है। इधर, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सेना में भर्ती संबंधी‘अग्निपथ' योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों से उत्पन्न खतरे के मद्देनजर बिहार में बीजेपी के 10 विधायकों को सीआरपीएफ की वीआईपी सुरक्षा प्रदान की है।

जिन बीजेपी विधायकों को यह वाई श्रेणी सुरक्षा प्रदान की गई है, उनमें बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, प्रदेश बीजेपीअध्यक्ष और पश्चिम चंपारण के सांसद संजय जायसवाल, बिस्फी के विधायक हरिभूषण ठाकुर, दरभंगा के विधायक संजय सरावगी और अन्य नेता शामिल हैं। सुरक्षा पाने वालों में कुछ विधानपरिषद सदस्य भी शामिल हैं। इधर भारतीय वायु सेना ने 'अग्निपथ' स्कीम के जरिए होने वाली नई भर्तियों के लिए विवरण रविवार को जारी किए हैं।

पुलिस मुख्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार बंद के दौरान रेलवे, सरकारी सम्पत्ति को विनष्ट करने तथा तोड़-फोड़ के विरुद्ध पूरे राज्य में कुल 25 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं तथा 250 अराजक तत्वों की गिरफ्तारी की गई है। पुलिस के मुताबिक 16 जून से 18 जून तीन दिनों में कुल 138 प्राथमिकी दर्ज की गई है और 718 अराजक तत्वों को गिरफ्तार किया गया है। सीसीटीवी फुटेज तथा वीडियोग्राफी के जरिये अराजक तत्वों व हिंसा करने वालों की पहचान की जा रही है। पुलिस ने कहा कि जांच के क्रम में हिंसा करने वालों की पहचान होने पर उनके विरुद्ध विधि-सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

वायु सेना ने अग्निपथ योजना के तहत होने वाली भर्तियों का डिटेल्स जारी कर दिया है। अग्निवीर योजना के तहत कोई भी भारतीय युवा जिसकी उम्र 17.5 से 21 साल के बीच है, वो आवेदन कर सकता है। उन्हें पहले से तय मेडिकल टेस्ट से गुजरना होगा। अग्निवीर भी वायु सेना के अन्य जवानों को मिलने वाले पदक और अवार्ड के लिए एलिजिबल होंगे। साथ ही इन्हें साल में महज 30 छुट्टियां मिलेंगे। जबकि सिक लीव चिकित्सकीय परामर्श के अनुरूप दिया जाएगा। ट्रेनिंग अवधि के दौरान उन्हें सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी। हालांकि, खास परिस्थियों को छोड़ कर ट्रेनिंग अवधि के बीच में उन्हें सेवा छोड़ने की इजाजत नहीं मिलेगी।

बिहार ने बीजेपी की सहयोगी पार्टी जदयू ने इस योजना पर फिर से विचार करने की मांग की है। जदयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा, 'हम इस स्कीम को वापस लेने के लिए नहीं कह रहे हैं, बल्कि युवाओं के गुस्से को देखते हुए इस योजना पर फिर से विचार करने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान भाजपा नेताओं को निशाना बनाए जाने को लेकर भाजपा-जदयू में जुबानी जंग तेज हो गई है। बिहार भाजपा प्रमुख संजय जायसवाल ने पार्टी कार्यालयों पर हमले को लेकर जेडीयू पर निशाना साधा और इसे एक साजिश बताया कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को नहीं रोका।