कोरोना वायरस के सबसे घातक वैरिएंट XE ने दी भारत में दस्तक, मुंबई में मिला पहला केस

मुंबई में ओमिक्रॉन के XE वैरिएंट का पहला मामला दर्ज किया गया है, बताया जा रहा है कि यह ओमिक्रोन से 43 फीसदी ज्यादा खतरनाक है

Updated: Apr 06, 2022, 06:44 PM IST

कोरोना वायरस के सबसे घातक वैरिएंट XE ने दी भारत में दस्तक, मुंबई में मिला पहला केस

मुंबई। कोरोना ने भारत में एक बार फिर टेंशन बढ़ा दी है। कोरोना वायरस के सबसे घातक वैरिएंट XE ने भारत में दस्तक दे दी है। कोविड का हाइब्रिड म्यूटेंट स्ट्रेन, जिसे XE नाम दिया गया है, मुंबई में पाया गया है। बताया जा रहा है कि यह ओमिक्रोन वैरिएंट से 43 फीसदी अधिक खतरनाक है। हालांकि, नए वैरिएंट वाले मरीज में अबतक कोई गंभीर लक्षण नहीं मिले हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मुंबई के 230 कोरोना संक्रमित लोगों के सैम्पल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। इनमें 228 ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित मिले। जबकि एक मरीज नए सब वैरिएंट KAPA और दूसरा XE वैरिएंट से संक्रमित पाया गया। 

यह भी पढ़ें: कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने खड़ा किया नया विवाद, बोले- सोमेश्वर मंदिर में शिव को कर रखा है कैद

मुंबई के इन 230 मरीज़ों में से 21 को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। वैक्सीन की सिर्फ़ पहली ख़ुराक ले चुका कोई भी मरीज़ अस्पताल में भर्ती नहीं हुआ था। वैक्सीन की दोनों खुराक लेने वालों में से 9 अस्पताल में भर्ती थे। बिना वैक्सीन की खुराक वाले 12 मरीज़ अस्पताल में भर्ती थे। हालांकि, अस्पताल में भर्ती हुए कुल 21 मरीजों में से किसी को भी ऑक्सीजन या गहन देखभाल की जरूरत नहीं पड़ी।

बता दें कि, हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी रिपोर्ट में जानकारी दी थी कि XE वैरिएंट कोरोना के किसी भी वैरिएंट से ज्यादा संक्रामक हो सकता है। XE एक पुनः संयोजक (Recombinant) जोकि BA'1 और BA.2 Omicron का म्यूटेशन है। 'पुनः संयोजक' म्यूटेशन तब पैदा होता है, जब कोई मरीज कोरोना के कई प्रकार के वैरिएंट से संक्रमित हो जाता है।