पूर्व नौकरशाह अमिताभ ठाकुर गिरफ्तार, सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का कर चुके हैं एलान

अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी रेप से जुड़े एक मामले में हुई है, रेप पीड़िता ने अमिताभ ठाकुर पर रेप के आरोपी बीएसपी नेता अतुल राय का साथ देने का आरोप लगाया था

Publish: Aug 27, 2021, 06:19 PM IST

पूर्व नौकरशाह अमिताभ ठाकुर गिरफ्तार, सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का कर चुके हैं एलान

लखनऊ। पूर्व नौकरशाह अमिताभ ठाकुर को उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी रेप से जुड़े एक मामले में हुई है। अमिताभ ठाकुर पर रेप के आरोपी और बीएसपी नेता अतुल राय का साथ देने का आरोप है। पूर्व नौकरशाह पर यह आरोप खुद रेप पीड़िता ने अपने एक वीडियो के ज़रिए लगाया था। अमिताभ ठाकुर हाल ही में राज्य के मौजूदा सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा भी कर चुके हैं।  

सोशल मीडिया पर इस समय अमिताभ ठाकुर का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें यूपी पुलिस उन्हें जबरन अपने साथ ले जाती हुई दिख रही है। वीडियो में लगातार अमिताभ ठाकुर अपनी गिरफ्तारी का विरोध करते हुए दिख रहे हैं। अमिताभ ठाकुर गिरफ्तारी का विरोध करते हुए पुलिस की गाड़ी में बैठने से इनकार कर रहे हैं।  

पूर्व नौकरशाह की गिरफ्तारी का वीडियो साझा करते हुए यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा है कि ये व्यक्ति कोई गुंडा या आतंकवादी नही है बल्कि उप्र के पूर्व IPS अधिकारी अमिताभ ठाकुर है,हाल में ही CM अजय सिंह बिष्ट के खिलाफ गोरखपुर से चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।अब मुकदमों का दौर शुरू हो चुका है। 

यह भी पढ़ें ः पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर गिरफ्तार, सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने की कर चुके हैं घोषणा

इससे पहले हाल ही में अमिताभ ठाकुर को उनके घर में नज़रबंद कर दिया गया था। अमिताभ ठाकुर गोरखपुर में जनसंपर्क करने के लिए जाने वाले थे। लेकिन रेप पीड़िता द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद यूपी पुलिस ने उन्हें लखनऊ के बाहर जाने से रोक दिया।

यह भी पढ़ें ः रिटायर्ड IPS ने योगी आदित्यनाथ को लेकर किया सनसनीखेज दावा, कहा, योगी के खिलाफ मर्डर केस में थे पर्याप्त सबूत 

अमिताभ ठाकुर का नाम उस समय चर्चा में आया था जब उन्होंने यह दावा किया था कि पचरुखिया मर्डर केस में उनके पास योगी आदित्यनाथ के खिलाफ पर्याप्त सबूत थे। लेकिन जल्द ही उनका ट्रांसफर हो गया और मर्डर केस की जांच बंद कर दी गई। अमिताभ ठाकुर को मार्च महीने में समय से पहले रिटायरमेंट दे दिया गया था। इसके बाद से ही अमिताभ ठाकुर योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार के खिलाफ खड़े हो गए थे। अमिताभ ठाकुर ने आगामी विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान किया है। लिहाज़ा उनके ऊपर की जाने वाली कार्रवाई को राजनीतिक चश्में से भी देखा जा रहा है।