सिनेमा प्रेमियों के लिए बड़ी खुशखबरी, आज से सौ फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमा हॉल

केंद्र सरकार ने सिनेमाघरों को खोलने के लिए जारी किए दिशानिर्देश, जितनी सीटें, उतने लोग देख सकेंगे सिनेमाघरों में फ़िल्में

Updated: Feb 01, 2021, 09:06 AM IST

सिनेमा प्रेमियों के लिए बड़ी खुशखबरी, आज से सौ फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमा हॉल
Photo Courtesy: The Print

नई दिल्ली। देशभर में चलाए जा रहे कोरोना टीकाकरण अभियान के बीच अब अधिकांश पाबंदियों को धीरे-धीरे खत्म किया जा रहा है। इसी बीच सिनेमा प्रेमियों और फिल्म जगत के लिए एक बड़ी खबर आई है। केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के बाद से बंद सिनेमा घरों को फिर से खोलने का फैसला किया गया है। सरकार ने बताया है कि आज से देशभर में सारे सिनेमाघर 100 फीसदी क्षमता के साथ खोले जाएंगे।

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा, 'सिनेमा प्रेमियों के किए अच्छी खबर है। सभी सिनेमाघरों में जितनी सीटें हैं, उतने लोग सिनेमा का आनंद ले सकते हैं। 100 फीसदी क्षमता के साथ हॉल खुल सकते हैं। हम ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन बुकिंग को प्रोत्साहित करेंगे। दो शो के बीच में थोड़ा समय रहेगा ताकि अचानक भीड़ ना हो। सैनिटाइजेशन और प्रोटोकॉल की पूरी सावधानी बरतनी होगी।' उन्होंने यह भी बताया कि सिनेमाघरों के स्टॉल से खाने की चीजें भी ग्राहक अब खरीद सकेंगे।

और पढें: भोपाल में शुरू हुआ ड्राइव इन सिनेमा, कार में बैठे-बैठे बड़ी स्क्रीन पर लीजिए फिल्म का मज़ा

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने सिनेमाघरों को पार्किंग और परिसर के बाहर भीड़ प्रबंधन के लिए उपयुक्त कदम उठाने का निर्देश दिया है। साथ ही कहा है कि लिफ्ट में लोगों की संख्या को भी सीमित कर दिया जाए। मल्टीप्लेक्सों को यह भी सुझाव दिया गया है कि इस दौरान सामान्य क्षेत्र, लॉबी और वॉशरूम में भीड़भाड़ से बचने के लिए लोगों को जमा न होने दें।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के कारण साल 2020 के शुरुआती महीनों में ही केंद्र सरकार ने सिनेमाघरों को बंद करा दिया था। इसके बाद गृह मंत्रालय ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सिनेमा हॉल को खोलने की इजाजत दी थी। हालांकि, इसके बाद भी सिनेमा हॉल खाली पड़े थे। दरअसल, सिनेमा घरों को 50 फीसदी की क्षमता तक खोलने की अनुमति दी गई थी। इस व्यवस्था के तहत दो दर्शकों के बीच एक कुर्सी खाली रखने की अनियवार्यता की गई थी।

और पढें: किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, आंदोलन में गिरफ्तार लोगों की रिहाई के बाद होनी चाहिए वार्ता

सिनेमाघरों के पूरी क्षमता से नहीं खुलने के कारण फ़िल्म निर्माता भी बड़े बजट की फिल्मों को रिलीज करने से कतरा रहे थे। साथ में फ़िल्म देखने जाने वाले कपल्स भी एक सीट के गैप की वजह से सिनेमाघरों से दूरी बनाए हुए थे। ऐसे में काफी लोग यह मांग कर रहे थे कि सिनेमाघरों को पूरी क्षमता के साथ खोलने की इजाजत दी जाए, जिसके बाद सरकार ने यह फैसला किया है।