कड़ाके की ठंड में हाफ टी-शर्ट और नंगे पांव... बापू, नेहरू से लेकर वाजपेई तक, सभी के समाधि स्थल पहुंचे राहुल

राहुल गांधी का पहले का शनिवार शाम को ही इन महापुरुषों की समाधियों पर जाने का कार्यक्रम था। लेकिन शनिवार को शाम भारत जोड़ो यात्रा के दौरान काफी भीड़ उमड़ने के चलते समय लग जाने के कारण इस कार्यक्रम में बदलाव कर दिया गया था।

Updated: Dec 26, 2022, 02:21 PM IST

कड़ाके की ठंड में हाफ टी-शर्ट और नंगे पांव... बापू, नेहरू से लेकर वाजपेई तक, सभी के समाधि स्थल पहुंचे राहुल

नई दिल्ली। भारत जोड़ो यात्रा का पहला चरण पूरा कर राहुल गांधी सोमवार सुबह राजधानी दिल्ली में देश के तमाम महापुरुषों के समाधि स्थल पहुंचे। राहुल गांधी ने सभी महापुरुषों को श्रद्धांजलि दी और नए साल से शुरू होने वाले दूसरे चरण की यात्रा के लिए आशीर्वाद लिया।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार सुबह दिल्ली में महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर पहुंचे और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद राहुल गांधी ने शांति वन पहुंचकर पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू को भी श्रद्धांजलि दी।

उन्होंने वीर भूमि जाकर अपने पिता व पूर्व पीएम राजीव गांधी को श्रद्धांजलि देकर उनसे आशीर्वाद लिया।

उन्होंने किसान घाट पहुंचकर किसान नेता चौधरी चरण सिंह को भी श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा वे पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री और अटल बिहारी वाजपेई के समाधि स्थल पर भी पहुंचे। राहुल ने इस दौरान एक बार फिर साबित किया कि वे जो कहते हैं वही करते हैं। सबसे मोहब्बत की बात करते हैं सब के सम्मान की बात करते हैं तो अपनी यात्रा का पहला चरण पूरा होने पर सबको शीश नवाने गए।उन्होंने साबित कर दिया कि उनके दिल में सिर्फ मोहब्बत है। दूसरे दलों के प्रधानमंत्रियों के प्रति भी दिल में उतना ही सम्मान है, जितना नेहरू, इंदिरा या राजीव गांधी के लिए।

पूस की सुबह घने कोहरे के बीच राहुल गांधी टी-शर्ट और पैंट में ही समाधि स्थलों पर गए और नंगे पांव चले। जबकि पूरे उत्तर भारत में शीतलहर के कारण दिल्ली ठंड से कांप रही थी। कड़कड़ाती ठंड में भी गर्म कपड़े नहीं पहनने के बारे में मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए गांधी ने इससे पहले कहा था कि ‘वे मुझसे पूछते रहते हैं कि मुझे ठंड कैसे नहीं लगती। लेकिन वे किसानों, मजदूरों, गरीब बच्चों से यह सवाल क्यों नहीं पूछते। किसान भी बिना गर्म कपड़े के ठंड में खेतों में काम करते हैं।'

बता दें कि राहुल गांधी का पहले का शनिवार शाम को ही इन महापुरुषों की समाधियों पर जाने का कार्यक्रम था। लेकिन शनिवार को शाम भारत जोड़ो यात्रा के दौरान काफी भीड़ उमड़ने के चलते समय लग जाने के कारण इस कार्यक्रम में बदलाव कर दिया गया था।

कन्याकुमारी से 7 सितंबर को शुरु हुई भारत जोड़ो यात्रा अब तक 9 राज्यों- तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली से गुजर चुकी है। 3 जनवरी को यात्रा फिर से उत्तर प्रदेश से शुरू होकर हरियाणा, पंजाब और फिर जम्मू-कश्मीर तक जाएगी। अब तक यह यात्रा 3 हजार किलोमीटर से अधिक की दूरी तय कर चुकी है।