ICICI-Videocon Case: मनी लांड्रिंग मामले में ED ने दीपक कोचर को किया गिरफ्तार

Chanda Kochar: ICICI बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति हैं दीपक कोचर, लोन ऑफर्स के बदले 500 करोड़ घूस लेने का आरोप

Updated: Sep 08, 2020 06:28 PM IST

ICICI-Videocon Case: मनी लांड्रिंग मामले में ED ने दीपक कोचर को किया गिरफ्तार
Photo Courtsey : HT

मुंबई। आईसीआईसीआई-वीडियोकॉन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दीपक कोचर को गिरफ्तार कर लिया है। आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को ईडी ने मनी लांड्रिंग के मामले में सोमवार (07 सितंबर) को गिरफ्तार किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक कोचर की गिरफ्तारी मुंबई में धनशोधन रोकथाम कानून की धाराओं के तहत हुई है।

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने चंदा कोचर, दीपक कोचर, वीडियोकॉन ग्रुप के वेणुगोपाल धूत व अन्य लोगों के खिलाफ पीएमएलए के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया था। इनपर 1,875 करोड़ रुपए की लोन मंजूरी देने के मामले में कथित अनिमितताओं व भ्रष्टाचार का आरोप है। यह लोन आईसीआईसीआई बैंक ने वीडियोकॉन ग्रुप को दिया था। 

ईडी ने साल 2020 के शुरुआत में चंदा कोचर, दीपक कोचर और उनके स्वामित्व वाली कंपनियों से संबंधित 78 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की थी। मामले की जांच के दौरान ईडी ने इस बात की पुष्टि की थी कि आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ और उनके पति को लोन ऑफर्स के बदले में 500 करोड़ का घुस मिला था। जांच के दौरान यह भी सामने आया था कि वीडियोकॉन ने आईसीआईसीआई बैंक से मिले 3250 करोड़ के लोन में से 64 करोड़ रुपए दीपक कोचर की कंपनी नु पॉवर में लगाए थे। 

Click: Money Laundring मेदांता अस्पताल के MD Naresh Trehan के खिलाफ FIR

हालांकि ईडी से पूछताछ के दौरान चंदा कोचर ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि लोन देने आईसीआईसीआई मैनेजमेंट का सामुहिक फैसला था और इसे किसी एक व्यक्ति ने मंजूरी नहीं दी। वहीं दीपक कोचर भी अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर चुके हैं।