महबूबा मुफ़्ती: देश तो ED, CBI और NIA चला रहे हैं, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के बाद मुफ़्ती का बीजेपी पर तंज

पीडीपी नेता ने पूछताछ समाप्त होने के बाद कहा, जो भी बोलता उसके पिछले कभी ईडी तो कभी एनआईए लगा दी जाती है

Updated: Mar 25, 2021, 05:57 PM IST

महबूबा मुफ़्ती: देश तो ED, CBI और NIA चला रहे हैं, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के बाद मुफ़्ती का बीजेपी पर तंज
Photo Courtesy : Oneindia

श्रीनगर। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ मुकम्मल होने के बाद पीडीपी नेता महबूबा मुफ़्ती ने केंद्र की बीजेपी शासित सरकार पर जमकर निशाना साधा। श्रीनगर कार्यालय में पूछताछ संपन्न होते ही महबूबा ने बीजेपी के ऊपर तंज कसते हुए कहा कि ये देश तो ईडी, सीबीआई और एनआईए जैसी एजेंसियां चला रही हैं। जैसे ही कोई सरकार के खिलाफ कुछ बोलता है, उसके पीछे ईडी और एनआईए लगा दी जाती है।  

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कहा, ' जब कोई भी कुछ बोलता है, उसके खिलाफ ईडी और एनआईए का इस्तेमाल किया जाता है। मुफ़्ती ने कहा देश संविधान के हिसाब से नहीं चल रहा है। इस समय देश किसी एक ख़ास पार्टी के ख़ास एजेंडा के आधार पर चल रहा है। 

यह भी पढ़ें:  पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती को ईडी का समन, 15 मार्च को पूछताछ के लिए बुलाया

विरोध का अपराधीकरण कर दिया गया है  
पीडीपी नेता ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की पूछताछ की जानकारी देते हुए कहा, 'मेरे से उस ज़मीन के बिक्री के बारे में पूछताछ की गई जिस पर मेरा और मुफ़्ती साहेब का मालिकाना हक़ था। महबूबा ने मीडिया से कहा इस देश में विरोध का अपराधीकरण कर दिया गया है। यह देश या तो ईडी, या सीबीआई या एनआईए चला रहे हैं।  

यह भी पढ़ें: Mehbooba Mufti: तानाशाही के खिलाफ खड़े रहने के लिए राहुल गांधी को याद रखेगा इतिहास

इससे पहले मार्च को शुरुआत में ईडी ने मुफ़्ती को पूछताछ के लिए समन भेजा था। मुफ़्ती ने समन के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर यह अर्ज़ी लगाई थी जिसके बाद दिल्ली हाई कोर्ट ने ईडी को साफ़ तौर पर पूछताछ के लिए महबूबा के साथ ज़बरदस्ती करने से रोक दिया था। महबूबा का कहना था कि वो पूछताछ के लिए दिल्ली नहीं आ सकतीं। वो या तो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए अन्यथा ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय में उपस्थित हो सकती हैं। इसके बाद ईडी के अधिकारियों ने महबूबा मुफ़्ती को श्रीनगर के कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया था।