ड्रामा रचकर पंजाब और पंजाबियत का अपमान न करें पीएम, कथित सुरक्षा चूक को लेकर सिद्धू का अचूक निशाना

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रधानमंत्री से की अपील, रैली में भीड़ न आने के कारण न रचें जान के खतरे का ढोंग

Updated: Jan 07, 2022, 10:17 PM IST

ड्रामा रचकर पंजाब और पंजाबियत का अपमान न करें पीएम, कथित सुरक्षा चूक को लेकर सिद्धू का अचूक निशाना

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित सुरक्षा चूक को लेकर सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार हो रही बयानबाज़ी में अब पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपने सियासी फायदे के लिये पंजाब और पंजाबियत को बदनाम करने का आरोप लगाया है।  

नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए फिरोज़पुर में हुई घटना पर अपनी राय व्यक्त की। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर किये जा रहे भाजपाई दावों पर सवाल भी खड़े किये। सिद्धू ने खुद प्रधानमंत्री मोदी पर पंजाब का अपमान और देश की जनता को बरगलाने का आरोप लगाया। 

नवजोत सिंह सिद्धू ने फिरोज़पुर की घटना का ज़िक्र करते हुए कहा कि क्या प्रधानमंत्री की सुरक्षा पंजाब पुलिस तक ही सीमित है? एसपीजी, रॉ सहित तमाम केंद्रीय एजेंसियों की कोई ज़िम्मेदारी या जवाबदेही नहीं होती? सिद्धू ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा सुनिश्चित करने में हज़ारों लोग शामिल होते हैं। सिद्धू ने यह भी सवाल किया कि आखिर प्रधानमंत्री का फिरोज़पुर जाने का रूट आखिरी समय पर क्यों बदला गया।   

यह भी पढ़ें ः पीएम की सुरक्षा चूक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिये निर्देश, ट्रेवल रिकॉर्ड को करें सील

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि फिरोज़पुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में लोग नहीं आये थे। इसी वजह से उन्होंने अपमान से बचने के लिये सुरक्षा कारणों का हवाला देना ज़्यादा मुनासिब समझा। वे खुद का अपमान होता नहीं देख सकते थे। लेकिन इसकी आड़ में वे पंजाब और पंजाबियत का अपमान न करें। सिद्धू ने कहा कि प्रधानमंत्री सिर्फ बीजेपी के प्रधानमंत्री नहीं हैं, वे देश के प्रधानमंत्री हैं। बच्चा बच्चा उनकी जान की कीमत समझता है। 

यह भी पढ़ें ः पूरे पंजाब में हो रहा था पीएम मोदी का विरोध मगर नहीं था सुरक्षा को खतरा, गृह मंत्रालय को सीएम चन्नी का जवाब

सिद्धू ने प्रधानमंत्री मोदी पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि जितने तिरंगे आपने, आपकी पार्टी और संघ ने नहीं फहराये होंगे, उससे अधिक संख्या में यहाँ का शहीद तिरंगों में लिपट कर अपने घर आता है। इसलिये ऐसा कहना कि यहाँ पर प्रधानमंत्री की जान को खतरा था, यह महज़ एक सियासी ड्रामा है।