पीएम हाउस के सामने हनुमान चालीसा पढ़ना चाहती हैं NCP नेता, गृह मंत्री को पत्र लिखकर मांगी अनुमति

NCP की महिला नेता, फहेमिदा हसन खान का कहना है कि अगर महाराष्ट्र के सीएम के निवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने से नवनीत राणा को फायदा दिख रहा है तो वह देश का फायदा करने पीएम मोदी के आवास दिल्ली में जाकर नमाज, हनुमान चालीसा और दुर्गा पाठ करना चाहती हैं

Updated: Apr 25, 2022, 05:00 PM IST

पीएम हाउस के सामने हनुमान चालीसा पढ़ना चाहती हैं NCP नेता, गृह मंत्री को पत्र लिखकर मांगी अनुमति

नई दिल्ली। महाराष्ट्र से शुरू हुआ हनुमान चालीसा और नमाज विवाद अब दिल्ली तक पहुंच चुका है। एनसीपी की एक महिला नेता, फहेमिदा हसन खान ने पीएम नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर नमाज और हनुमान चालीसा पढ़ने की इजाजत मांगा है। इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री को अमित शाह को पत्र भी लिखा है।

पीएम हाउस के बाहर नमाज और हनुमान चालीसा पाठ करने का इच्छा व्यक्त करने वाली नेत्री का नाम फहेमिदा हसन खान है। वह उत्तर मुंबई एनसीपी की कार्याध्यक्ष हैं। गृहमंत्री शाह को संबोधित पत्र में उन्होंने लिखा कि, 'मैं आपसे निवेदन करती हूं कि मुझे भारत के प्रिय प्रधानमंत्री के निवास के बाहर नमाज, हनुमान चालीसा, नवकार मंत्र गुरू ग्रंथ और नोविनो पढ़ने की इजाजत दी जाए। कृपया करके मुझे समय और दिन के बारे में भी सूचित किया जाए।'

यह भी पढ़ें: उदयपुर में 13 से 15 मई तक कांग्रेस का चिंतन शिविर, किसानों के मुद्दे पर रिपोर्ट बनाने के लिए कमेटी गठित

फहेमीदा हसन का कहना है कि अगर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव जी ठाकरे के निवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने से रवि राणा और नवनीत राणा को फायदा दिख रहा है तो वह देश का फायदा करने पीएम मोदी के आवास दिल्ली में जाकर नमाज, हनुमान चालीसा और दुर्गा पाठ करना चाहती हैं। उनका कहना है कि वह हमेशा अपने घर में हनुमान चालीसा का पाठ और दुर्गा पूजा करती है। लेकिन जिस तरह से देश मे महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है उसको लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जगाना आवश्यक हो गया है।

उधर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान करने वाली नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा सलाखों के भीतर हैं। बताया जा रहा है कि नवनीत राणा को जेल में एक अलग बैरक में रखा गया है। नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में कोर्ट ने 14 दिन की जेल में भेज दिया है।