सिवनी की 18 साल की लड़की ने की ऑनलाइन ठगी, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचकर कमाए 2 लाख

मध्यप्रदेश की छात्रा ने दिल्ली NCR के 11 लोगों से रेमडेसिविर इंजेक्शन के नाम पर ऑनलाइन ठगे 2 लाख से ज्यादा रुपए, सिवनी निवासी छात्रा को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, पिता चलाते हैं मेडिकल दुकान

Updated: May 29, 2021, 08:32 PM IST

सिवनी की 18 साल की लड़की ने की ऑनलाइन ठगी, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचकर कमाए 2 लाख
Photo courtesy: etv bharat

भोपाल। दिल्ली पुलिस ने सिवनी निवासी 18 साल की छात्रा को आनलाइन ठगी के आरोप में गिरफ्तार किया है। छात्रा पर दिल्ली NCR में लोगों को ब्लैक में रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने का आरोप है। दिल्ली पुलिस ने सिवनी से छात्रा की पहचान वर्तिका राय के तौर पर की है। यह लड़की इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी की फर्स्ट इयर की स्टूडेंट है और साइकॉलजी की पढ़ाई कर रही है। उस पर 11 लोगों को ठगने का आरोप लगा है। उसने लोगों से 2 लाख 25 हजार रुपए की ठगी की है। छात्रा को साउथ दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस ने सिवनी से गिरफ्तार किया है। युवती के पास से दो मोबाइल, चेकबुक, पासबुक, समेत चार ATM और करीब 32 हजार रुपए बरामद हुए हैं।  

और पढ़ें: पहले पत्नी की मौत हुई फिर ईमान भी बेच डाला, ब्लैक फ़ंगस इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग करनेवाला गिरफ्तार

इस ऑनलाइन ठगी की शिकायत फरियादी अंकित कुमार ने दिल्ली में दर्ज करवाई थी। फरियादी को अपने रिश्तेदार के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत थी, उन्हें युवती का नंबर इंटरनेट के माध्यम से मिला था। वहां से मिले नबंर पर फोन किया तो आरोपी ने 32,400 में रेमडेसिविर के 5 इंजेक्शन देने का वादा किया था। इंजेक्शन की एवज में मांगी गई रकम बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करने को कहा था। पैसे भेजने के बाद भी ना इंजेक्शन मिला और ना ही उस नंबर से कोई जवाब आया।

शिकायत आने के बाद पुलिस ने उस अकाउंट की बारीकी से जांच की तो पता चला की वह किसी वर्तिका नाम की सिवनी की रहने वाली छात्रा का है। तब साउथ दिल्ली पुलिस ने मध्यप्रदेश पुलिस से संपर्क कर युवती को सिवनी से गिरफ्तार किया है।

छात्रा ने लोगों से 2 लाख 25 हजार रुपए की ठगी की है। छात्रा ने पुलिस के सामने अपनी अपराध स्वीकार कर ली है। आरोपी छात्रा के पिता मेडिकल की दुकान चलाते हैं। मामला सिर्फ छोटी-मोटी ठगी का है या लड़की किसी गिरोह से जुड़ी थी, इसपर जांच जारी है।