नकल से पास की 10वीं, चीटिंग में कर रखी है पीएचडी, बीजेपी मंत्री ने छात्रों को बताए अपने करतूत

कर्नाटक के मंत्री बी श्रीरामुलु ने बेल्लारी में छात्रों के सामने नकल का ही महिमामंडन करने लगे। इतना ही नहीं उन्होंने यहां तक कह डाला कि मैं टीचर्स की रैगिंग लेता था।

Updated: Dec 12, 2022, 09:45 AM IST

नकल से पास की 10वीं, चीटिंग में कर रखी है पीएचडी, बीजेपी मंत्री ने छात्रों को बताए अपने करतूत

बेंगलुरु। कर्नाटक की भाजपा सरकार में एक मंत्री हैं बी श्रीरामुलु। वह अपने कारनामों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। उन्होंने स्वयं कभी पढ़ाई नहीं की और जब उन्हें छात्रों को संबोधित करने का मौका मिला तो गर्व से अपने करतूत बताने लगे। अपनी तारीफ करते हुए उन्होंने खुद को 'नकल करने में PhD' बताया, साथ ही कहा कि वे टीचर्स की रैगिंग लेते थे।

जानकारी के मुताबिक बी श्रीरामुलु बल्लारी में विद्या वर्द्धक संघ एसजी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज, जिसके वे पूर्व छात्र रहे हैं, उसके हीरक जयंती समारोह में पहुंचे। यहां एडमिन के रिक्वेस्ट पर उन्होंने मौजूद छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि, 'मैं क्लास में बैक-बेंचर था। परीक्षा के दौरान चीटिंग कैसे करना है, इस पर मैंने 'पीएचडी' की है। मैंने अपने शिक्षकों की रैगिंग ली है।'

यह भी पढ़ें: MP में कांग्रेस की सरकार बनते ही बहाल करेंगे ओल्ड पेंशन स्कीम, कर्मचारियों से कमलनाथ का वादा

भाजपा मंत्री ने आगे कहा कि, 'जब मैं जींस पहनता था तो लड़कियां मुझे देखती थीं। मैं 14 बार जेल गया हूं। अगर आप सोच रहे हैं कि ये किसी फिल्म के डायलॉग हैं तो जरा रुकिए। ये हकीकत है। हालांकि मैं केवल गरीबों की रक्षा करने और जरूरतमंदों को न्याय दिलाने के लिए उपद्रवी था।'

उन्होंने आगे कहा कि, 'मैं रैंक का छात्र नहीं था।।मेरे कई शिक्षकों ने मुझे शिक्षित करने की कोशिश की, लेकिन मुझे नहीं पता कि मैं क्यों नहीं पढ़ पाया। मेरे कई शिक्षकों ने मुझे डांटा था।' दरअसल, मंत्री श्रीरामुलु छात्रों के सामने यह साबित करने पर तुले थे की पढ़ाई का कोई मतलब नहीं है और इंसान बिना पढ़े भी मंत्री बन सकता है।