देश में नफरत का जहर फैलाया जा रहा है, असम हिंसा को लेकर बरसे राहुल गांधी

असम पुलिस ने ऑन कैमरा बुजुर्ग को मारी थी गोली, कांग्रेस बोली- बड़ा भाई सीएम और छोटा भाई एसपी तो क्या जिसे चाहेंगे गोली मार देंगे, राहुल गांधी ने अमृत महोत्सव पर उठाया सवाल

Updated: Sep 25, 2021, 03:28 PM IST

देश में नफरत का जहर फैलाया जा रहा है, असम हिंसा को लेकर बरसे राहुल गांधी
Photo Courtesy: HT

नई दिल्ली। असम के दरांग में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस आज असम में प्रदर्शन करेगी। कांग्रेस ने इसे राज्य प्रायोजित हिंसा करार देते हुए पूछा है कि बड़ा भाई सीएम और छोटा भाई एसपी तो क्या जिसे चाहेंगे गोली मार देंगे। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी असम हिंसा को लेकर आक्रामक ट्वीट किया है। राहुल गांधी ने कहा है कि देश में नफरत का जहर फैलाया जा रहा है।

राहुल गांधी ने इन परिस्थितियों में आजादी का अमृत महोत्सव मनाए जाने को लेकर भी सवाल उठाया है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, 'जब देश में नफ़रत का ज़हर फैलाया जा रहा है तो कैसा अमृत महोत्सव?' राहुल गांधी ने यह भी कहा है कि अगर ये सबके लिए नहीं है तो फिर कैसी आज़ादी है।' 

दरअसल, बीते गुरुवार को असम से रूह कांपने वाला वीडियो सामने आया था। वीडियो में पुलिसकर्मी एक बुजुर्ग को ऑन कैमरा गोली मारते दिखे थे। इस विचलित करने वाले वीडियो में देखा जा सकता है कि गोली लगने के बाद बुजुर्ग तड़प रहा है लेकिन पुलिस की भीड़ उपर से लाठियां बरसा रही है। पुलिस के मुताबिक वे अतिक्रमण हटाने गए थे और प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए मजबूरन फायरिंग करनी पड़ी।

यह भी पढ़ें: असम पुलिस ने ऑन कैमरा बुजुर्ग को मारी गोली, तड़पते बुजुर्ग के साथ कैमरामैन ने की बर्बरता, मौत

खास बात ये है कि अतिक्रमण हटाने को लेकर हुए इस कार्रवाई का नेतृत्व मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के भाई सुशांत बिस्वा सरमा कर रहे थे। सुशांत दरांग जिले के एसपी हैं। कांग्रेस ने सरमा बंधुओं पर निशाना साधते हुए पूछा है कि बड़ा भाई CM और छोटा भाई SP तो क्या जिसे चाहेंगे उसे गोली मारेंगे ? कांग्रेस दरांग SP सुशांत को निलंबित कर हिंसा की न्यायिक जांच कराने की मांग कर रही है।

यह भी पढ़ें: PM Cares सरकारी फंड नहीं तो कर्मचारियों की सैलरी काटकर इसमें क्यों डाली गई: कांग्रेस ने उठाया सवाल

लेकिन निलंबन की कार्रवाई तो दूर असम सीएम पुलिस के इस बर्बर कार्रवाई को जायज ठहरा रहे हैं। हिमंता बिस्वा सरमा का कहना है कि 10 हजार लोगों ने पुलिस को घेर लिया था। पुलिस ने अपने बचाव में जवाबी कार्रवाई की। हालांकि, वीडियो में स्पष्ट है कि एक अकेले बुजुर्ग छड़ी लेकर पुलिस की तरफ आ रहा था और पुलिसकर्मियों ने सामने स्व उसके सीने में गोली मार दी। माना जा रहा है कि सीएम के भाई होने के कारण एसपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कि जा रही है।